ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
विवेकानंद ग्लोबल यूनवर्सिटी का तीसरा दीक्षांत समारोह 
February 23, 2020 • Dr. Surendra Sharma


केन्द्र सरकार अपनी नीति में परिवर्तन करे तभी घर घर तक पहुंचेगा जल : ऊर्जा एंव जलसंसाधन मंत्री बीडी कल्ला
जयपुर। राज्य सरकार में ऊर्जा एंव जलसंसाधन मंत्री बी. डी कल्ला ने कहा है कि केन्द्र सरकार को जल नीति में परिवर्तन लाना होगा तभी हम राज्य में घर-घर तक जल पहुंचाने का लक्ष्य पूरा कर सकेंगें। कल्ला शनिवार को जगतपुरा स्थित विवेकानंद ग्लोबल यूनीवर्सिटी के तीसरे दीक्षांत समारोह पर आयोजित कार्यक्रम में पत्रकारों से बात कर रहे थे। उन्होने कहा कि केन्द्र सरकार जल अनुदान पचास फीसदी से बढ़ाकर नब्बे फीसदी करे और अपनी जलनीति को बदले, साथ ही ऊर्जा मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार किसानों के लिए कुसुम योजना प्रारंभ कर रही है जिसके अंतर्गत पच्चीस हज़ार सौर ऊर्जा पंप लगाए जाएगें। 
इस अवसर पर वीजीयू के रजिस्ट्रार प्रो. डॉ प्रवीन चौधरी ने जानकारी देते हुए बताया कि विवेकानंद यूनीवर्सिटी के तीसरे दीक्षांत समारोह में 357 छात्र-छात्राओं को डिग्रीयाँ प्रदान की गईं हैं। जिसमें 16 स्वर्ण पदक एवं 2 रजत पदक प्रदान किए गए हैं। चौधरी ने बताया कि यूनीवर्सिटी के लिए भी यह गर्व की बात है कि उनके यहाँ शिक्षा प्राप्त कर छात्र अब अपने जीवन में आगे बढ़ेगें और यूनीवर्सिटी का नाम रोशन करेंगें। 


दीक्षांत समारोह के मुख्य अतिथी के रुप में बोलते हुए उर्जा मंत्री बीडी कल्ला ने यूनीवर्सिटी और इसके छात्र-छात्राओं को बधाई दी और शिक्षा की गुणवत्ता पर जोर दिया।  इस वर्ष वीजीयू ने विभिन्न विषयों में 12 फिलॉसफी ऑफ डॉक्टरेट की उपाधि प्रदान की गई है। इस अवसर पर यूनीवर्सिटी अध्यक्ष डॉ. पी. एम. उडानी ने वार्षिक गतिविधियों की जानकारी दी। 


कार्यक्रम के अंत में वीजीयू के वाइस चैयरपर्सन एम. रायसिंघानी ने उपस्थित अतिथियों, अभिभावकों, छात्र-छात्राओं को कार्यक्रम सफल बनाने के लिए धन्यवाद दिया। कार्यक्रम के सफल आयोजन में डीन इंजिनियरिंग बलदेव सिंह, वीआईटी प्रिंसीपल प्रो एन के अग्रवाल, डीन एग्रीकल्चर प्रो. डी. पी. धरमोरा, डीन रिसर्च एंड डवलपमेंट डॉ. वाई. सी. शर्मा, डॉ. विकास श्रोत्रिया डीन हेड मैनेजमेंट विभाग, डॉ मनीषा चौधरी, हेड मैनेजमेंट विभाग एवं समस्त विश्वविद्यालय के फैकल्टी एवं स्टाफ का महत्वपूर्ण योगदान रहा।