श्री कृष्ण बलराम मंदिर के पाटोत्सव में खाद्य मंत्री रमेश मीणा ने किया यज्ञ
April 30, 2020 • Dr. Surendra Sharma

*श्रीकृष्ण बलराम मंदिर के पाटोत्सव में खाद्य मंत्री रमेश मीणा ने किया यज्ञ*


जयपुर। जगतपुरा में महल रोड स्थित अक्षयपात्र परिसर में श्रीकृष्ण बलराम मंदिर में आठवां पाटोत्सव गुरुवार को मनाया गया। इस अवसर पर आयोजित भव्य कार्यक्रम में प्रदेश के खाद्य मंत्री रमेश मीणा ने मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होकर भगवान का आशीर्वाद प्राप्त किया। साथ ही दुनियाभर में चल रही विकट समस्या से लोगों को राहत देने के लिए भगवान श्रीकृष्ण बलराम से विशेष प्रार्थना करते हुए यज्ञ में पूर्णाहुति भी दी।                                          कोरोना महामारी के चलते राष्ट्रीय लॉकडाउन की मौजूदा स्थिति  को ध्यान में रखते हुए हरे कृष्णा मूवमेंट जयपुर के प्रबंधन की तरफ से 1 सप्ताह के कार्यक्रम को केवल 1 दिन में संपन्न कराया गया। इस पाटोत्सव में केवल मंदिर के सेवारत ही शामिल हुए। हालांकि सभी श्रद्धालुओं के लिए ऑनलाइन दर्शन की व्यवस्था भी की गई। मन्दिर परिसर में दिनभर हरि नाम संकीर्तन का आयोजन भी किया गया। साथ ही भगवान को छप्पन भोग अर्पित किए गए। आज से 8 वर्ष पहले गंगा सप्तमी के शुभ दिन श्रीकृष्ण बलराम की अर्च  विग्रह मंदिर में स्थापित की गई थी।                                                                              मंदिर के अध्यक्ष चंचलापति दास ने बताया कि  श्रीकृष्ण बलराम का विभिन्न प्रकार के फलों के रस से अभिषेक किया गया। वहीं प्रात:काल सुदर्शन पूजा एवं विशेष यज्ञ का आयोजन किया गया। इस पूरे कार्यक्रम को मंदिर के ऑफिशियल फेसबुक पेज और यूट्यूब चैनल पर लाइव के माध्यम से लोगों तक पहुंचाया गया।अध्यक्ष ने बताया कि कोरोना महामारी के समय में लॉक डाउन का सदुपयोग मानवता एवं विश्व कल्याण में करने के लिए हरे कृष्णा मूवमेंट जयपुर की तरफ से महा जप यज्ञ का आयोजन गत 16 अप्रैल से किया जा रहा है, जो 3 मई तक चलेगा।                                       इस महा जप यज्ञ में सोशल मीडिया के माध्यम से संपूर्ण भारत के भक्तों को अपने-अपने घरों से इस यज्ञ में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया गया।  इस महा जप यज्ञ में 108000 माला (18 करोड भगवान के नाम )  का जप करने का लक्ष्य रखा गया है, जिसमे से अभी तक एक लाख माला जप हो चुका है।इस महा जप यज्ञ में कुल 2000 भक्तों ने सर्वाधिक उत्साह से हिस्सा ले रखा है, जो राजस्थान के जयपुर, कोटा, अजमेर, जोधपुर, बीकानेर, उदयपुर से हैं।