ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
शरण्य संस्थान का अभियान बेटा पढ़ाओ - संस्कार सिखाओ 
September 27, 2020 • Dr. Surendra Sharma

शरण्य संस्थान का अभियान बेटा पढ़ाओ - संस्कार सिखाओ 

उदयपुर । बेटा पढ़ाओ - संस्कार सिखाओ अभियान की ओर से शरण्य संस्थान की संस्थापिका मनोती सोनी ने अपने विचारों के माध्यम से कहा कि आज के इस युग में लगभग सभी लोग तनावग्रस्त हैं। आप जहाँ कहीं भी देखेंगे सभी को कोई न कोई समस्या है। ये तनाव आज सबसे ज्यादा नव युवकों में देखने को मिलता है। वे अपने केरियर को लेकर इतने गंभीर होते हैं कि तनाव ग्रस्त हो जाते हैं।

उन्हें अगर उनके अनुरूप सफलता न मिले तो वे सुसाइड तक कर लेते हैं क्योंकि वे अत्यधिक तनाव में होते हैं। आजकल तो 10th-12th कक्षा के बच्चे को भी तनाव रहता है। आप पति-पत्नी के संबंधों को भी देखें तो वे भी किसी न किसी समस्या से परेशान रहते हैं।

इन समस्याओं के कारण आज के लोग अत्यधिक तनावयुक्त हो रहे हैं और नशा करने लगे हैं। वे अलकोहाल तो ले ही रहे हैं और इससे भी ज्यादा चोरी से ड्रग्स लेना भी शुरू कर दिया है। कुछ क्षेत्रों में तो लोग इतना ड्रग्स ले रहे हैं कि इसका समाधान ही नहीं निकल रहा इस पर शरण्य संस्थान की संस्थापिका मनोती सोनी ने लोगो को जागरूक करते हुए कहा जी नशा - छोड़ो रिश्ता जोड़ो नशा का जो हुआ शिकार उजड़ा उस का घर परिवार जन जन की है ये पुकार नशे का करो बहिष्कार नशे को गले लगाओगे तो मौत को गले लगाओगे नशे में युवा सड़ रहा है कहा ये युवा बढ़ रहा है भारत की महान संस्कृति को बचाओ अब तो नशे पर प्रतिबंध लगाओ।