ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
सीएए / जोधपुर में शाह ने कहा.... किसी ने शरणार्थियों की चिंता नहीं की, 56 इंच वाले मोदी ने उन्हें अपनाया
January 4, 2020 • Dr. Surendra Sharma

अमित शाह ने कहा... शरणार्थियों के अच्छे दिन आ गए, सरकार आपको भारतीय नागरिक बना रही

जोधपुर (निसं.)। नागरिकता कानून (सीएए) के समर्थन में सभा करने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शुक्रवार को जोधपुर पहुंचे। शाह ने कांग्रेस पर सीएए पर लोगों को गुमराह करने का आरोप लगाया। शाह ने कहा- कांग्रेस, ममता, कम्यूनिस्ट और केजरीवाल एंड कंपनी इस कानन का विरोध कर रहे हैं। मैं आज इन्हें चुनौती देने आया हूं। इस जमीन से अटलजी ने परमाणु परीक्षण किया था, आज मैं जनजागरण करने आया हूं।  शाह के साथ जोधपुर के सांसद और केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत भी मौजूद थे। शाह एयरपोर्ट से सीधे बीएसएफ के राजस्थान फंटियर मुख्यालय गए। उन्होंने राजस्थान से सटी भारत- पाकिस्तान सीमा के हालात की

जोधपुर में सबसे ज्यादा शरणार्थी राजस्थान में करीब 5 लाख शरणार्थी रह रहे हैं। करीब 25 हजार पाकिस्तानी विस्थापित नागरिकता के इंतजार में है। इनमें से 18,000 जोधपुर, बाड़मेर, जैसलमेर जिलों में रहते हैं। जोधपुर में इनकी सबसे ज्यादा संख्या बताई जाती है। विस्थापितों में सबसे अधिक दलित समुदाय के लोग हैं। अब तक जोधपुर, बाड़मेर और जैसलमेर में 20 हजार से अधिक लोगों को नागरिकता मिल चुकी है। पिछले 4 साल में 1751 लोगों को नागरिकता मिली, इनमें से 1400 सिर्फ जोधपुर के थे। जानकारी ली। शाह ने बॉर्डर की ऑपरेशनल तैयारियों की समीक्षा करने के बाद जवानों से मुलाकात भी की। महात्मा गांधी ने कहा था कि जो भी आएंगे, उन्हें हम बसाएंगे। लेकिन, कांग्रेस वोट बैंक के चक्कर में अपना वादा पूरा नहीं कर सकी। इनको लगता है कि वोट बैंक टूट जाएगा।

कांग्रेस ने धर्म के नाम पर बंटवारा किया जोधपुर के केशव परिसर में सीएए के समर्थन में हुई सभा में अमित शाह ने कहाधर्म के नाम पर देश का बंटवारा नहीं होना चाहिए। यह किसने किया, कांग्रेस जवाब दे। यह फैसला कांग्रेस ने किया था। पूर्वी और पश्चिमी पाकिस्तान में हिन्दू, सिख और अन्य लोग बड़ी संख्या में रहते थे। पाकिस्तान और बांग्लादेश में अब उन अल्पसंख्यक रह गए। आखिरकार वे लोग कहां गए।

राहुल गांधी को चुनौती शाह ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर तंज कसते हुए कहा- राहुल बाबा कानून पढ़ा है, तो चर्चा करने के लिए आ जाइए। सीएए को पढ़ लीजिए। इसमें कहीं भी किसी की नागरिकता लेने का प्रावधान नहीं है। यह नागरिकता देने का कानून है। आप लोगों को गुमराह कर रहे हैं।