ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
सरकारी विद्यालयों में अंग्रेजी एवं विज्ञान विषयों के विशेषज्ञों की मिलेगी सेवाएं: मुग्धा सिन्हा
December 28, 2019 • Dr. Surendra Sharma

कार्यालय संवाददाता

जयपुर। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग की शासन सचिव मुग्धा सिन्हा ने कहा है कि सरकारी विद्यालयों एवं कॉलेजों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों के लिए अंग्रेजी एवं विज्ञान विषयों में लर्निंग आउटकम को बढ़ाने के उद्देश्य से राज्य के लगभग 2 हजार संस्थानों में प्रथम फेज में तकनीक का प्रयोग किया जाएगा। उच्च शिक्षा विभाग, शिक्षा, समाज कल्याण, अल्पसंख्यक, महिला बाल विकास एवं जनजातीय विभाग के अन्तर्गत आने वाले दूरदराज के विद्यालयों एवं कॉलेजों के विद्यार्थियों को विषय विशेषज्ञों की सेवायें आरओटी (रिसीव ओनली टर्मिनल) एवं एसआईटी (सेटेलाइट इंटरेक्टिव टर्मिनल) के माध्यम से उपलब्ध कराई जाएगी। सिन्हा शुक्रवार को ने शासन सचिवालय में सैटकॉम टेक्नोलॉजी के प्रसार एवं उपयोग को बढ़ावा देने के लिए उच्च शिक्षा, शिक्षा, समाज कल्याण, अल्पसंख्यक, महिला बाल विकास एवं जनजातीय विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक को संबोधित कर रही थी। उन्होंने कहा कि प्रारम्भिक स्तर पर लागू किए जाने वाले इस कार्यक्रम से कक्षा छह से बारहवीं तक के विद्यार्थियों का अंग्रेजी एवं विज्ञान विषयों का स्तर बढ़ाया जाएगा ताकि दसवीं एवं बारहवीं बोर्ड में बेहतर परिणाम प्राप्त हो सके। दूरदराज के आदिवासी एवं अल्पसंख्यक बहुल क्षेत्रों को मिलेगा फायदा उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम से सभी 134 मॉडल स्कूल, कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों, समाज कल्याण विभाग के छात्रावासों, बालगृहों, जिले का एक सरकारी कॉलेज के विद्यार्थियों को सुविधा प्रदान की जाएगी। इसके साथ ही आदिवासी क्षेत्रों, मदरसों, अल्पसंख्यक बहुल क्षेत्रों एवं दूरदराज के क्षेत्रों में स्थित ऐसे संस्थानों को जिनमें शिक्षकों की कमी है, में भी प्राथमिकता के साथ आरओटी (रिसीव ओनली टर्मिनल) एवं एसआईटी (सेटेलाइट इंटरेक्टिव टर्मिनल) से