सरकारी नियम कायदे नहीं मानते आंगन बाड़ी सेंटर
March 21, 2020 • Dr. Surendra Sharma

सरकारी नियम कायदे नहीं मानते आंगनवाड़ी सेंटर
जिम्मेदार सीडीपीओ ने बताया कि धारा 144 लगी है वे जिम्मेदार नहीं
जयपुर 
महिला बाल विकास विभाग की ओर से संचालित आंगनबाड़ी सेंटरों पर रोक के बावजूद बच्चों को टेक होम के बजाय बुला कर ही नाश्ता व अन्य सामग्री भी जारी है इसका उदाहरण शनिवार को दीनानाथ जी का रास्ता स्थित नाहरगढ़ प्रथम आंगनवाड़ी सेंटर पर देखा गया यहां शनिवार को टीकाकरण कार्यक्रम भी था जिनमें न नौनिहाल को चिकित्सा विभाग की ओर से एएनएम ने टीके लगाए इस दौरान आशा सहयोगिनी लगातार व्यवस्था करने के बावजूद भी परेशान हो गई किसी ने भी कार्यकर्ता आशा सहयोगिनी और सहाईका का कहना मानना उचित नहीं समझा इस दौरान सहयोग मांगने पर विभाग के जिम्मेदार सुपरवाइजर ने तो फोन ही नहीं उठाया सीडीपीओ विनीता खांडल ने तो 144 धारा की बात कहीं और घर से निकलने की मनाही बताई
विभाग के निदेशक आईएएस केके पाठक ने तुरंत मौके पर ही  निर्देश दिए कि वे सरकारी आदेशों का उल्लंघन ना करें और भीड़  नहीं हो इसके लिए ध्यान रखें वही विभाग की उपनिदेशक उषा शर्मा ने भी इस बारे में त्वरित कार्रवाई की
मौके पर मौजूद संवाददाता ने बताया कि आंगनवाड़ी सेंटर पर टीकाकरण का दिन था जिसमें छोटे बच्चों को टीके लगाए जा रहे थे लेकिन एक साथ एक ही जगह भीड़ हो गई और एक दूसरे ने आगे आने की होड़ में हल्ला मचा दिया जिस पर स्थानीय पुलिस भी मौके पर पहुंची और आंगनवाड़ी सेंटर में एकत्रित महिलाओं को जो कि एक साथ बैठी हुई थी बाहर निकाला और लाइन में दूरी तय कर बारी बारी से टीका लगवाने को कहा साथ ही स्थानीय विधायक और सरकारी मुख्य सचेतक डॉ महेश जोशी ने भी इस प्रकार की लापरवाही पर शीघ्र एक्शन लिया साथ ही पुलिस के द्वारा सूचना पहुंचाई और व्यवस्थाएं सुचारू की
आंगनवाड़ी कार्यकर्ता आशा सहयोगिनी और सहायिका ने बताया कि जब सीडीपीओ धारा 144 में बंद है तो हमें क्यों बुलाया जा रहा है हमारा कौन जिम्मेदार होगा