ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
रेशमा मंगलानी हत्याकांड: पति अयाज की लंबी उम्र के लिए रखा था करवाचौथ का व्रत, उसी ने छीन ली जिंदगी
January 22, 2020 • Dr. Surendra Sharma

कार्यालय संवाददाता

जयपुर। शहर में रविवार रात को हुए रेशमा मंगलानी उर्फ नैना हत्याकांड में गिरफ्तार आरोपी पति अयाज अहमद अंसारी को पुलिस ने मंगलवार को कोर्ट में पेशकर दो दिन के रिमांड पर लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है। वहीं, दो साल पहले अयाज से लव मैरिज करने वाली रेशमा ने पहली बार _30 अक्टूबर 2018 को करवा चौथ का व्रत रखा। लाल रंग की चुनरी और पूजा की आरती हाथ में लिए उसने फेसबुक पर फोटोज भी पोस्ट की। जिसमें लिखा था कि मेरी पहली करवा चौथ फिलिंग हैप्पी। लेकिन करीब एक साल बाद ही पति अयाज से अनबन के बाद दूरियां इतनी बढ़ेंगी कि वही उसकी गला घोंटकर हत्या करेगा और पहचान छिपाने को पत्थर से सिर व चेहरा कुचल देगा। ऐसा रेशमा ने शायद कभी नहीं सोचा था। हत्या के बाद अयाज ने अपने किसी रिश्तेदार को हत्या की जानकारी दे दी थी। पुलिस इसकी तस्दीक कर रही है

शादी के बाद से ससुराल में रह रहा था अयाज, तीन माह पहले ही अलग रहने लगा: शादी के बाद से अयाज अपनी पत्नी रेशमा के साथ उनके घर पर ही रहने लगा। करीब एक साल गुजरने पर उनके बीच अनबन रहने लगी। लेकिन वे साथ रहे। इसी बीच अयाज की फाइनेंस की नौकरी भी छूट गई। फिर वह फूड डिलीवरी का काम करने लगा। वह भी छोड़ दिया। इस बीच रेशमा घर खर्च के लिए काम करने लगी। अयाज के मुताबिक उसकी पत्नी सोशल मीडिया पर लगातार व्यस्त रहती। इससे उसे पत्नी के चरित्र पर संदेह भी हुआ। करीब 3 माह पहले रेशमा ने बच्चे को जन्म दिया। इसके बाद दोनों के बीच मनमुटाव बढ़ गया। ऐसे में अयाज अपने ससुराल को छोड़कर वापस घर चला गया था। लेकिन पति-पत्नी के बीच फोन पर बातचीत होती थी। बताया जा रहा है कि हत्या की वारदात के तीन चार दिन पहले रेशमा अपनी फ्रेंड के साथ सवाईमाधोपुर घूमने गई। इस बात पर भी अयाज नाराज हुआ था।

रेशमा ने करीब 11 लाख रूपए में किश्तों में फ्लैट खरीदा था, उसे वहीं पिलाई बीयर पुलिस पूछताछ में यह भी पता चला है कि रेशमा ने बेटे के जन्म के बाद कालवाड़ रोड पर एक हाउसिंग सोसायटी में करीब 11 लाख रूपए में किश्तों में एक फ्लैट लिया था। वह चंद दिनों में वहां शिफ्ट भी होने वाली थी। लेकिन इससे पहले पत्नी की हत्या की साजिश रच चुके अयाज ने रेशमा को रविवार दोपहर फोन कर बातचीत से सुलह के लिए बुलाया। इसके बाद पति पत्नी स्कूटी से रेशमा के फ्लैट पर चले गए। वहां उन्होंने साथ बैठकर बीयर पी। शाम होने पर अयाज उसे वापस आमेर इलाके में ले आया। यहां एक थड़ी पर चाय पी। फिर रविवार रात करीब 9 बजे नई माता मंदिर के पास दाऊजी की छतरी के पीछे सड़क किनारे सूनसान जगह पर अयाज ने रेशमा का गला घोंटकर मार डाला। इसके बाद पहचान छिपाने के लिए पत्थर से सिर व चेहरा कुचल दिया।