ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
राष्ट्र निर्माण में महिलाओं की भूमिका अहम-भटनागर
March 8, 2020 • Dr. Surendra Sharma

भीलवाड़ा
    अधिवक्ता परिषद, भीलवाड़ा द्वारा आज महेश छात्रावास में मुख्य अतिथि न्यायिक मजिस्ट्रेट संख्या 1, अनुपमा जी भटनागर व मुख्य वक्ता उदयपुर से महिला अधिवक्ता वंदना जी उदावत की अध्यक्षता में महिला अधिवक्ताओ द्वारा अंतराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया।


        सर्वप्रथम भारत माता व प्रथम भारतीय महिला शिक्षिका ज्योति बा फुले व झांसी की रानी लक्ष्मी बाई की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम की शुरुआत की। उसके पश्चात सभी महिला अधिवक्ताओ को तिलक व लच्छा बांध कर सम्मान किया गया।


            वंदना उदावत ने विश्व के विभिन्न क्षेत्रों में महिलाओं के प्रति सम्मान, प्रशंसा और प्यार प्रकट करते हुए इस दिन को महिलाओं के आर्थिक, राजनीतिक और सामाजिक उपलब्धियों के उपलक्ष्य में उत्सव के तौर पर मनाया जाता है। महिला की राष्ट्र निर्माण में भूमिका पर अपने विचार व्यक्त किये। उन्होंने बताया कि पूरे विश्व मे महिलाओ ने अपने परिवार की जिम्मेदारी के साथ-साथ राष्ट्र के विकास में अपनी भूमिका निभाई।
        अनुपमा भटनागर ने अपने उद्बोधन में महिलाओं को संबोधित करते हुए कहा कि महिलाएं आज के युग मे आत्मनिर्भर हो रही है। इस दिन छूत, सतीप्रथा, बाल या विधवा-विवाह जैसी कुरीतियों पर आवाज उठाने वाली देश की पहली महिला शिक्षिका सावित्री बाई फुले का स्मृति दिवस होता है। तक, स्त्री श‍िक्षा की रीढ़ और क्रांतिकारी सामाजिक विचारक चरित्र है ही नहीं. यही नहीं पूरे विश्व में भी उनके जैसी स्त्री श‍िक्षा अध‍िकारों के लिए प्रतिबद्ध महानायिका मिलना मुशिकल है. इसलिए उनके स्मृत‍ि दिवस को भारतीय महिला दिवस के रूप में मनाते हैं। उन्होंने ये भी कहा कि आज महिला सशक्तिकरण के साथ-साथ यहां उपस्थित सभी मातृशक्ति अगर एक गरीब महिला के जीवन स्तर को ऊंचा उठाने में अपना योगदान दे तो महिला सशक्तिकरण का उद्देश्य पूरा हो जाएगा। उन्होंने ये भी बताया कि इतिहास में ऐसी महिलाएं हुई जिन्होंने देश की आन बान व शान के लिये अपने प्राणों को न्यौछावर कर दिया।
       कार्यक्रम को राष्ट्रीय सेविका समिति जिला कार्यवाहिका ने भी अपने विचार व्यक्त किये।
       इस दौरान मधु शर्मा-भाजपा जिला उपाध्यक्ष, ललिता शर्मा, बीनू टाक, वंदना आमेटा, सुनीता कटारिया, सुषमा पाटिल, हेमलता कंडारा व कई महिला अधिवक्ता सहित मातृशक्ति उपस्थित थी।
  कार्यक्रम की व्यवस्था प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य रामेश्वर लाल विजयवर्गीय, सचिव राजेश सामरिया, राजकुमार शर्मा, मीडिया प्रभारी पीरू सिंह गौड़, कोषाध्यक्ष आदित्य जाजपुर, सुरेशचंद्र सुवालका, सुनील पारीक, राजकुमार सोनी, नवनीत कुमावत, गजेंद्र सिंह कानावत सहित अधिवक्ता परिषद के सदस्यों ने अपनी सेवाएं दी।