ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
राज्यपाल कलराज मिश्र ने जेकेके में राजस्थान फोरम के सदस्य अर्जुन प्रजापति की मूर्तिशिल्पों की प्रदर्शनी का उद्घाटन किया
December 26, 2019 • Dr. Surendra Sharma

कार्यालय संवाददाता

जयपुर। राजस्थान फेरम व जवाहर कला केन्द्र के सहयोग से आज 'भारत निर्माता श्रृंखला का आयोजन किया गया। जेकेके के अलंकार गैलेरी में पद्मश्री अर्जुन प्रजापति की 30 मूर्तिशिल्पों की प्रदर्शनी का उद्घाटन राजस्थान के महामहिम राज्यपाल कलराज मिश्र द्वारा किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम में राजस्थान सरकार के कला व संस्कृति मंत्री बी.डी. कल्ला भी उपस्थित थे। प्रदर्शनी का उद्घाटन करते हुये राजस्थान के महामहिम राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा कि, "राजस्थान विभिन्न विविधाओं का प्रदेश है। मैं सभी प्रदेशवासियों, राजस्थान फेरम और अर्जुन प्रजापति को हार्दिक बधाई प्रेषित करता हूं। उन्होंने बताया कि राजस्थान शौर्य और सुंदरता इसके विभिन्न अंग है। प्रदेशवासियों ने अपने सहयोग से राज्य को एक विकसित राज्य के रूप में स्थापित किया है। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुये राजस्थान सरकार के कला व संस्कृति मंत्री बी.डी. कल्ला ने इस अवसर पर कहा कि, "राजस्थान सरकार कला एवं संस्कृति के विभिन्न रूपों के संरक्षण, संवर्धन, प्रचार एवं प्रसार के लिए कटिबद्ध है। इस कड़ी में जवाहर कला केंद्र को भी देश का प्रमुख सांस्कृतिक केन्द्र बनाने के प्रयास किए जा रहे है। अर्जुन प्रजापति ने मूर्तिशिल्प के क्षेत्र में देश-दुनिया में अपनी अलग पहचान कायम की है। अर्जुन प्रजापति मूर्तिशिल्प की लाइव डेमोस्ट्रेशन की कला में भी माहिर है जिसकी चर्चे अक्सर होते रहते है। कार्यक्रम बारें में अधिक जानकारी देते हुये राजस्थान फेरम की एग्जीक्यूटिव सेक्रेटरी अपरा कुच्छल ने कहा कि, राजस्थान फेरम व जवाहर कला केन्द्र के सहयोग से आज जेकेके 'भारत निर्माता श्रृंखला की शुरूआत की गई है। राजस्थान फेरम प्रदेश की कला एवं संस्कृति की समस्त विधाओं के सिद्धस्त कलाकारों का एक संगठन है जो प्रदेश में वर्ष 2013 से कला, साहित्य एवं संस्कृति के संरक्षण की दिशा में कार्यरत है। ये गौरव का विषय है कि अर्जुन जी भी इस फेरम के सदस्य हैं। उनके खूबसूरत मूर्तिशिल्पों की ये एग्जीबिशन जवाहर कला केंद्र में 29 दिसंबर तक दर्शकों के अवलोकनार्थ खुली रहेगी पद्मश्री अर्जुन प्रजापति ने अपनी मूर्तिशिल्प प्रदर्शनी के बारें मे अधिक जानकारी देते हुये बताया कि, इस प्रदर्शनी में भारत के निर्माताओं जैसे कि भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू, देश पहले राष्ट्रपति डॉ राजेन्द्र प्रसाद, आयरन लेडी इंदिरा गांधीभारत के दूसरे प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री, संविधान निर्माता भारत रत्न बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर, लौह पुरूष वल्लभ भाई पटेल, मराठा राजा छत्रपति शिवाजी, मेवाड़ के वीर सपूत महाराणा प्रताप, आजाद हिंद फैज के संस्थापक नेताजी सुभाष चंद्र बोसस्वतंत्रता सेनानी चन्द्रशेखर आजाद व भगत सिंह, मिसाइल मैन एपीजे अब्दुल कलाम, लोकनायक जयप्रकाश नारायण, स्वतंत्रता सेनानी गोविंद वल्लभ पंत, प्रख्यात शिक्षाविद् डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन, भारत के पहले शिक्षा मंत्री मौलाना अब्दुल कलाम आजाद, आध्यात्मिक गुरू स्वामी विवेकानन्द, नोबल पुरस्कार विजेता गुरू रविन्द्र नाथ टेगौर, लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक, पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री व भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी तथा भैरोसिंह शेखावत की फाइबर ग्लास से बनी करीब 30 मूर्तिशिल्पों का अंलकार गैलेरी में प्रदर्शन किया गया है। कार्यक्रम की शुरूआत में राजस्थान पुलिस के हैड कांस्टेबल इस्माल खान के नेतृत्व में राजस्थान पुलिस बैंड ने 'सारे जहां से अच्छा हिन्दुस्तां हमारा', 'भारत देश है मेरा' जैसी संगीत की धुनों से जेकेके परिसर को देश भक्ति से सरोबार कर दिया। कार्यक्रम में राजस्थान फेरम के सभी गणमान्य सदस्य भी उपस्थित थे। कार्यक्रम के अंत में महामहिम राज्यपाल को अर्जुन प्रजापति द्वारा बनाई हुई पवन पुत्र हनुमान की प्रतिमा तथा बी.डी कल्ला जी को स्मृति चिन्ह भेंट किया गया।