ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
राजस्थान के लाल' का कोलकत्ता में सम्मान
January 6, 2020 • Dr. Surendra Sharma

निजी संवाददाता

कोलकाता। हिमाचल के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने आध्यत्म को विकास की सबसे बड़ी धुरी बताते हुए कहा कि उसी से दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश भारत चल रहा हैं। इस देश में सरकार के अलावा परमार्थ भाव से समाजसेवा में जो लोग लगे हुए उनके कारण ही भारत पुनः शक्तिशाली राष्ट बनकर उभरा हैं। समाजसेवी बनवारी लाल सोती ने परमार्थ भाव से जो सेवा कार्य किए हैं वह तो अदभुत, अतुलनीय और वंदनीय हैं। दत्तात्रेय रविवार को कोलकाता स्थित विद्या मंदिर भवन में प्रमुख समाजसेवी और व्यवसायी बनवारी लाल सोती के कौस्तुभ जयंती महोत्सव समारोह को संबोधित कर रहे थे। राजस्थान में चूरू जिले के मूल निवासी और कोलकाता प्रवासी सोती के सम्मान में समारोह का संयुक्त आयोजन कोलकाता की डेढ़ सौ से अधिक संस्थाओं की ओर से किया गया था। हिमाचल के राज्यपाल ने सोती की जीवन यात्रा पर सुशील ओझा की ओर से संपादित '19 वां अध्याय' ग्रंथ का भी विमोचन किया। ग्रंथ में चिकित्सा, शिक्षा तथा अन्य सामाजिक प्रकल्पों में सोती के योगदान को भी रेखांकित किया गया हैं इनमें 81000 नेत्र ऑपरेशन,21000 ब्लड यूनिट और चूरू में मेघवाल समाज को बनाकर दिया सामुदायिक भवन सहित अनेकों सेवा प्रकल्प में योगदान का विशेष रूप से उल्लेख किया गया है। कौस्तुभ जयंती समारोह में पश्चिम बंगाल के वरिष्ठ शहरी विकास मंत्री व कोलकाता के महापौर फिरहाद हकीम ने सोती को महामानव बताते हुए उनके द्वारा किए सेवा कार्यों को अतुलनीय बताया। चित्तौड़ सांसद सी पी जोशी, वरिष्ठ साहित्यकार डॉ प्रेमशंकर त्रिपाठी, एआरसी के चेयरमैन रामकुमार गोयल, अखिल भारतवर्षीय मारवाड़ी सम्मेलन के संरक्षक सीताराम शर्मा, धर्मानुरागी लक्ष्मीकान्त तिवाड़ी, माहेश्वरी सभा के अध्यक्ष पुरुषोत्तम दास मिमानी, हरियाणा विद्या मंदिर के गोविन्दराम अग्रवाल आदि ने विचार रखे और सोती की दानवीरता की सराहना करते हुए उनके प्रति कृतज्ञता प्रकट की और कहा कि युवा पीढी सोती की तरह व्यापार-व्यवसाय के साथ सेवा के सद्कर्मों में योगदान करें।