ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
पुलिस मुख्यालय में ध्वजारोहरण   9 मंत्रायलिक कर्मचारी सम्मानित     
January 26, 2020 • Dr. Surendra Sharma

जयपुर, 26 जनवरी। महानिदेषक पुलिस श्री भूपेन्द्र सिंह गणतन्त्र दिवस के अवसर पर प्रातः  8.20 बजे पुलिस मुख्यालय में ध्वजारोहण किया। उन्होंने इस अवसर पर पुलिस विभाग के 9 मंत्रायलिक कर्मचारियों को सराहनीय सेवाओं के लिए प्रषंसा पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। 
 श्री भूपेन्द्र सिंह पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों से पूर्ण निष्ठा और उत्तरदायित्व की भावना के साथ गणतंत्र की रक्षा के लिए कार्य करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि गणतंत्र में पुलिस कर्मियों की अत्यन्त महत्वपूर्ण भूमिका है एवं पुलिस कर्मी सजगता से अपनी भूमिका निर्वहन कर गणतंत्र को मजबूत बनाने में अपना योगदान दे सकते है। 

इस अवसर पर महानिदेषक कानून एवं व्यवस्था श्री एमएल लाठर, अतिरिक्त महानिदेषक पुलिस श्री पीके सिंह, श्री उमेष मिश्रा, श्रीमती नीना सिंह, श्री राजीव शर्मा, डाॅ. रवि मेहरडा, श्री गोविन्द गुप्ता, श्रीमती प्रषाखा माथुर, श्री बीजू जार्ज जोसफ, श्री सुष्मित विष्वास, श्रीमती स्मिता श्रीवास्तव, महानिरीक्षक पुलिस डाॅ. हवा सिंह घुमरिया, श्री आलोक वषिष्ठ, उपमहानिरीक्षक श्री गौरव श्रीवास्तव, श्रीमती एस. परिमाला, श्री दीपक कुमार, श्री राजेष मीणा, श्री राजेन्द्र सिंह, श्री जय नारायण एवं श्री सत्येन्द्र सिंह सहित वरिष्ठ अधिकारीगण एवं कर्मचारीगण मौजूद थे। 

अतिरिक्त महानिदेषक पुलिस मुख्यालय श्री राजीव शर्मा ने बताया कि गणतन्त्र दिवस के अवसर पर पुलिस मुख्यालय में आयोजित कार्यक्रम में अतिरिक्त प्रषासनिक अधिकारी श्री राजेन्द्र सिंह भरतपुर रेंज, अतिरिक्त प्रषासनिक अधिकारी श्री राजेन्द्र कुमार गुप्ता पुलिस मुख्यालय,  निजी सहायक श्री भूप सिंह यादव महानिदेषक पुलिस प्रषिक्षण, वरिष्ठ सहायक श्री लालाराम आरपीटीसी जोधपुर,  वरिष्ठ सहायक श्री अजय कुमार खण्डेलवाल भरतपुर रेंज को योग्यता प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया। 
 
उन्होंने बताया कि सहा. प्रषासनिक अधिकारी श्री योगेष कुमार त्रिपाठी जिला भीलवाडा, सहा. प्रषासनिक अधिकारी श्री इन्द्रपाल सिंह आयुक्तालय जयपुर, वरिष्ठ सहायक श्री शंकर सिंह जिला टोंक तथा वरिष्ठ सहायक श्री राकेष कुमावत राजस्थान पुलिस अकादमी को प्रषंसा पत्र प्रदान कर सम्मानित किया गया।