ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
फिर आपकी दिल्ली - 22 साल बाद भी भाजपा सत्ता से दूर, कांग्रेस दूसरी बार शून्य पर
February 12, 2020 • Dr. Surendra Sharma

नई दिल्ली। दिल्ली के चुनावी रण में आम आदमी पार्टी (आप) एक बार फिर सबसे बड़ी सिकंदर बनकर सामने आई है। आप ने लगातार दूसरे चुनाव में धमाकेदार प्रदर्शन करते हुए मुख्य विपक्षी दल भाजपा और कांग्रेस को धूल चटा दी। अरविंद केजरीवाल लगातार तीसरी बार मुख्यमंत्री का पद संभालेंगे। वहीं विधानसभा चुनाव में एक बार फिर शून्य सीटें हासिल करने के बाद सुभाष चोपड़ा ने दिल्ली कांग्रेस के अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दे दिया. हार की जिम्मेदारी लेते हुए सुभाष चोपड़ा ने ये इस्तीफा दिया हैविधानसभा चुनावों में आम आदमी पार्टी ने 62 और बीजेपी ने 8 सीटें जीती हैं. कांग्रेस को लगातार दूसरी बार बुरी तरह से हार का सामना करना पड़ा है, 70 सीटों में से एक भी सीट कांग्रेस जीतने में नाकाम रही. सुभाष चोपड़ा ने कहा, 'मैंने हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है. अब आलाकमान को मेरे इस्तीफे पर निर्णय लेना है.

केजरीवाल बोले...आई लव यू दिल्ली आम आदमी पार्टी (आप) की जीत के बाद मंगलवार दोपहर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा- 'दिल्लीवालो! गजब कर दिया आपने। ये दिल्ली के हर उस परिवार की जीत है, जिसने मुझे अपना बेटा मानकर हमें जबरदस्त समर्थन दिया। ये उन परिवारों की जीत है, जिनके बच्चों को अच्छी शिक्षा मिलने लगी है, जिनके लोगों का दिल्ली में अस्पतालों में अच्छा इलाज होने लगा है। दिल्ली के लोगों ने आज देश में एक नई राजनीति को जन्म दिया है, जिसका नाम काम की राजनीति है।' केजरीवाल जब पार्टी मुख्यालय में पहली बार कार्यकर्ताओं के सामने आए, तब उनके साथ डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया नहीं थे। जीत के बाद हनुमान मंदिर में केजरीवाल ने की पत्नी और मनीष सिसोदिया संग पूजा-अर्चना आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल दिल्ली में लगातार तीसरी जीत दर्ज करने के बाद मंगलवार शाम हनुमान मंदिर पहुंचे और पूजा अर्चना की। उनके साथ मनीष सिसोदिया और पत्नी सुनीता केजरीवाल थीं। वे कनॉट प्लेस स्थित हनुमान मंदिर पहुंचे। इससे पहले उन्होंने पार्टी दफ्तर पर आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। शानदार जीत को भारत की जीत बताते हुए केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली विधानसभा चुनाव से एक नई तरह की राजनीति का उभार हुआ है। स्कूल, अस्पताल बनाने वाली और लगातार सस्ती बिजली देने वाली पार्टी को लोगों ने गिफ्ट दिया है।