ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
पीएम कहते है एनआरसी पर कोई चर्चा ही नहीं है और गृहमंत्री कह रहे है पूरे देश में लागू करूंगाः सीएम गहलोत
December 28, 2019 • Dr. Surendra Sharma

जयपुर। प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को कहा कि एनआरसी के मुद्दे पर प्रधानमंत्री और गृहमंत्री के वक्तव्य में इतना बड़ा फर्क नहीं होना चाहिए। इनमें रात और दिन का फर्क है। एक (पीएम मोदी) कहते हैं एनआरसी के पर कोई चर्चा ही नहीं है सरकार में, कब लागू हो रही है एनआरसी, जैसे उनको पता ही नहीं है और गृहमंत्री चिल्लाचिल्लाकर बोल रहे थे कि चार महीने से हर राज्य में पूरे देश में लागू करके रहूंगा। अब डिफेंस में रोजाना सफाई दे रहे है, डैमेज कंट्रोल कर रहे है गहलोतः रविंद्र मंच के सभागार में राष्ट्रीय फेडरेशन ऑफ भारतीय महिलाओं के पहले राष्ट्रीय सम्मेलन के बाद मीडिया से मुख्यमंत्री प्रेस से मुखातिब हुए। गहलोत ने सवाल उठाते हुए कहा कि पार्लियामेंट के फ्लोर पर आप बताइए ऐसा हुआ है कभी आज तक? मैं आश्चर्य कर रहा हूं क्या हो रहा है देश के अंदर। अब जाकर डिफेस में आए है तो राज सफाई दरहह, डिफेंस में आए हैं तो रोज सफाई दे रहे हैं, डैमेज कंट्रोल कर रहे हैं।

गहलोत ने कहा-कोई गैर कानूनी ढंग से देश में घुस जाए तो उनके ऊपर कार्रवाई करोः गहलोत ने कहा कि इनका एजेंडा क्या है? मैंने शुरू में कहा ना एनआरसी ना सीएए ये प्रेक्टिकल नहीं है। प्रेक्टिकल है ही नहीं। हां कोई मान लीजिए ऐसे लोग घुस गए हैं देश के अंदर इललीगल तरीके से तो आप उनके ऊपर कार्रवाई करो। पूरा मुल्क आपके साथ में खड़ा रहेगा। यह तो समझ में आने वाली बात है। लिमिटेड सर्वे भी हो सकता है उसका, पर आपने एनआरसी लागू कर दिया असम क अदरएक हजार 600 दिया असम के अंदर। एक हजार 600 करोड़ रुपए खर्च कर दिए।

वो चाहते है कि पूरा देश भुगते। आपकी जी-हुजूरी करें। आपसे भीख मांगे: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बोले की नोटबंदी की लाइनों की तरह और वहां तो पैसे जमा कराने की बात तो यहां डॉक्यूमेंट पूछ रहे थे और ज्यादा जानकारी मांग रहे थे। कितनी तकलीफ हुई उन लोगों को। आज पूरा असम जो ज्यूरी बैठी हुई है दिल्ली के अंदर सात लोगों की। वो सब मानते हैं कि असम की जनता अवसाद में है। हमारे जो लोग मिलने आते हैं वो लोग ये बात बताते हैं अवसाद के अंदर है। वहां की जनता कितनी भुगत रही अदर होगी इस एनआरसी के पूरे प्रोसेस को।