पानी की समस्या को लेकर ग्रामीणों का विरोध प्रदर्शन
May 7, 2020 • Dr. Surendra Sharma

*पानी की समस्या को लेकर ग्रामीणों का विरोध प्रदर्शन*
फुलेरा (राजेन्द्र प्रजापति): फुलेरा विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत जोरपुरा की बासनीवालों की ढाणी सहित हरनाथपुरा, नरूको की ढाणी, निठारवालो की ढाणी सहित अन्य कई ढाणियों मे बीसलपुर पेयजल योजना का पानी नही पहुंचने से करीब आधा दर्जन से ज्यादा ढाणियों मे इस भीषण गर्मी में पेयजल लाभ नही मिल पा रहा है। मजबूरन ग्रामीणों को महंगे दामो पर टैंकर डलवाना मजबूरी बनी हुई है। ग्रामीण जयनारायण बासनीवाल ने बताया की बासनीवालों की ढाणी मे पिछले करीब डेढ माह से पेयजल आपूर्ति नही हुई है। जलदाय विभाग द्वारा डाली गई पाइप लाइनों मे भी पानी की सप्लाई आए वर्षो बीत गये है। पिछले दो वर्षों से पंचायत में बीसलपुर का पानी चालू है। लेकिन बासनीवालों की ढाणी में पिछले डेढ माह से पानी की सप्लाई नहीं पहुंचने से वासियों को महंगे दामों के भाव में टेंकर डलवाने के लिए मजबूर होना पड़ रहा हैं। पीएसपी पॉइंट शौ पीस की तरह दिखाई दे रहे हैं। जबकि जोरपुरा पंचायत क्षेत्र में ही क्षेत्र का सबसे बड़ा बीसलपुर पेयजल योजना का पंम्प स्टेशन बना हुआ है। फिर भी पंचायत के आस-पास की ढाणियों को पानी नहीं मिल रहा है। ग्राम वासियों ने स्थानीय पंचायत प्रशासन, बीसलपुर के उच्च अधिकारियों को तथा स्थानीय जनप्रतिनिधियों को अवगत करा चुके हैं। परन्तु फिर भी उनके यहां बीसलपुर के पानी की सप्लाई नहीं पहुंचने से जानवरों, पशुओं सहित सैकड़ों की संख्या में अलग-अलग ढाणीयों में निवास करने वाले  वासियों को पानी की समस्या से जूझना पड़ रहा है। जबकि इन  गांवों की आबादी करीब एक हजार के लगभग है। सबसे बडी समस्या पशुओ के सामने आ रही है कि यहां जानवरो को पानी पिलाने के लिए भी दूसरी ग्राम पंचायत मे जाकर पानी पिलाना पड रहा है। गुरूवार को स्थानीय लोगों ने आक्रोश व्यक्त कर प्रदर्शन किया। ग्रामीणो का कहना है कि जल्दी ही बीसलपुर पेयजल आपूर्ति शुरू करवाने के लिये  विधायक व सांसद महोदय को इस समस्या से अवगत करवाया। लेकिन स्थिति जस की तस बनी हुई है। गुरूवार को ग्रामीण जयनारायण बासनीवाल, भंवरलाल, लालचंद, मंगलचन्द, श्योजीराम, टीकमचन्द, नेमीचन्द, जयपाल, महादेव, हरदेव सहित अन्य कई महिलाओ ने आक्रोश व्यक्त करते हुए प्रदर्शन किया। कि '' पिछले डेढ माह से ढाणी मे पानी नही पहुच रहा है। बीसलपुर लाईन मे कई लोगो ने अवैध कनेक्शन कर रखे है। जबकी कई गांवो मे पंप सेटो से पानी खिंचा जा रहा है। जिससे बासनीवालों की ढाणी तक पानी नही पहुंच पा रहा है। ग्रामीणों को अपने स्तर पर महंगे दामो पर टैंकर डलवाने के लिए मजबूर होना पड रहा है।''
                             
  *प्रवासी मजदूरों के लिए प्रशासन ने की रोङवेज बस की व्यवस्था*
   *सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मैं थर्मल स्क्रीनिंग व जांच कर बैठाया बस में*
फुलेरा । वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को लेकर हुए लाॅक डाउन के दौरान राज्यों व क्षेत्रों में फंसे प्रवासी मजदूरों को अपने गंतव्य क्षेत्र में छोड़ने के लिए प्रशासन ने अपनी अहम् भूमिका निभाते हुए रोडवेज बस की व्यवस्था की गई। जानकारी देते हुए तहसीलदार हरिसिंह ने बताया कि गुरुवार को प्रातः 10 बजे फुलेरा क्षेत्र में फंसे प्रवासी मजदूरों को अपने गंतव्य पर पहुंचाने के लिए राज्य सरकार के द्वारा रोडवेज की व्यवस्था की गई। जिसमे सांभर, फुलेरा व बबेरवालों की ढाणी जोबनेर में  फंसे उत्तर प्रदेश के प्रवासी मजदूरों को उत्तर प्रदेश बॉर्डर तक छोड़ने के लिए जयपुर डिपो से एक बस की व्यवस्था की गई। वहीं फुलेरा में फसे करीब 5 प्रवासी मजदूरों की फुलेरा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉ राहुल मित्तल के नेतृत्व में थर्मल स्क्रीनिंग व जांच करने के बाद बस में बैठने की इजाजत दी गई ।
 सरकार के इस कार्य को लेकर क्षेत्र में फंसे उत्तर प्रदेश के लोगों में मानो खुशी की लहर दौड़ पड़ी और सरकार के साथ-साथ स्थानीय प्रशासन को भी इन मजदूरों ने धन्यवाद दिया।