ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
पाकिस्तान के लिए कर रहे थे जासूसी
December 21, 2019 • Dr. Surendra Sharma

अमरावती. आंध्रप्रदेश पुलिस ने शुक्रवार को नौसेना के 7 जवानों को गिरफ्तार को किया है। इन सभी पर पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के आरोप है। पुलिस के खुफिया विभाग के मुताबिक, केंद्रीय खुफिया एजेंसियों और नौसेना खुफिया विभाग ने संयुक्त तौर पर 'डॉल्फिन्स नोज' नामक अभियान चलाया। इसके जरिए जार जरिए जासूसी रैकेट का पता लगा। जांच एजेंसियों ने इस मामले में हवाला ऑपरेटर को भी हिरासत में लिया है। इसके अलावा कुछ और संदिग्ध लोगों से पूछताछ जारी है। सभी आरोपियों को विजयवाड़ा स्थित एनआईए कोर्ट में पेश किया गया। वहां से उन्हें 3 जनवरी तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार नौसैनिकों ने भारतीय पनडुब्बियों और जहाजों की जानकारी पाकिस्तानी हैंडलर को दी थी। पुलिस ने तीन नेवी सेलर्स को एनआईए व विशाखापटनम, दो को कारवार नेवल बेस और दो को मुंबई नेवल बेस से गिरफ्तार किया। खुफिया विभाग पिछले कई दिनों से इनकी गतिविधियों पर नजर रख रहे थे। सोशल नेटवर्किंग साइट से हैंडलर के संपर्क में आए आरोपी: मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सभी आरोपी 2017 में नौसेना में शामिल हुए थे। सितंबर 2018 में सोशल नेटवर्किंग साइट से तीन-चार महिलाओं के संपर्क में आए। महिलाओं ने बाद में उनका परिचय पाकिस्तानी हैंडलर से व्यापारी के तौर पर करवाया, जिसने उनसे नौसेना की गोपनीय सूचना लेनी शुरू कर दी। हवाला ऑपरेटर की मदद से आरोपियों को हर महीने पैसे दिए गए: गिरफ्तार नौसैनिक जहाजों और पनडुब्बियों से लौटने के बाद इनके लोकेशन की जानकारी दिया करते थे। इन्होंने पिछले साल सितंबर-अक्टूबर के Hiबर-अक्टबर के बीच नौसेना से जुड़ी कई संवेदनशील जानकारी हैंडलर को दी। इन्हें इसके बदले एक हवाला ऑपरेटर की मदद से हर महीने पैसे भी दिए गए।