ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
नागरिकता बिल पर प्रधानमंत्री मोदी बोले... गहलोत तो शरणार्थियों के हमदर्द थे
December 23, 2019 • Dr. Surendra Sharma

कार्यालय संवाददाता

जयपुर। नागरिकता कानून को लेकर आरोप-प्रत्यारोपों का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा। जहां एक ओर जयपुर में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में रविवार को इस बिल के विरोध में सात दलों का शांति मार्च निकला वही दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अशोक गहलोत को आड़े हाथ लिया। प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले गहलोत खुद शरणार्थियों के हमदर्द थे लेकिन अब वे पलट गए हैं। इसके बद गहलोत ने ट्वीट कर अपनी सफाई पेश की। उन्होंने कहा, पहले अमित शाह जी सदन में एवं आज प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी मेरा नाम लेकर देश को गुमराह कर रहे हैं। मोदी ने कहा, आज रंग बदलने वाले इन दलों को इन के ही नेताओं की बात याद दिलाना चाहता हूं। मरी बात नहीं मानना है तो मत मानों लेकिन इन नेताओं की बात तो मानोंएक समय था जब राजस्थान के मुख्यमंत्री हुआ करते थे अशोक गहलोत। अब फिर से मुख्यमंत्री हैं। पहले जब मुख्यमंत्री थे तब उन्होंने शरणार्थियों की हमदर्दी के लिए बातें कहीं थींमोदी ने कहा. वे तो सरकार से मांग करते थे कि हिंदू या सिख पाकिस्तान से भाग कर यहां आए हैं उनकी स्थिति सुधारी जाए। अब वे रातों रात बदल गए। वोट बैंक का खतरा लगने लगा। वो सारी हमदर्दी, मैं हैरान हूं आज उनके पेट का दर्द बन गई है। जो कल तक हमदर्दी थी वो खुद के लिए दर्द क्यों बन गई? मोदी ने इससे पहले पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का भी उदाहरण दिया और कहा कि वे भी बांग्लादेशी शरणार्थियों के पक्ष में बोलते थे। उनका वीडियो भी उपलब्ध है। अब वे भी बदल गए। यह कहा अशोक गहलोत ने ट्वीट में: पहले अमित शाह जी सदन में एवं आज प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी मेरा नाम लेकर देश को गुमराह कर रहे हैं। ये कहना क्या चाहते हैं? पाकिस्तान से प्रताड़ित होकर जो लोग सीमावर्ती राजस्थान आए उन्हें सुविधाएं मिले, इसके लिए तत्कालीन गृहमंत्री श्री पी.चिदम्बरम को पत्र लिखना क्या गलत था? अब भी जो प्रताड़ित होकर आते हैं उन्हें नागरिकता/सुविधाएं दिये जाने से कौन रोक रहा है?इससे हिन्दू या मुसलमान किसको शिकायत हो सकती है? शिकायत तो यह है कि जिस प्रकार असम में एनआरसी को लागू नहीं कर पाए उसके बावजूद पूरे देश में गृहमंत्री एनआरसी लागू करने का ऐलान करके भड़का रहे हैं।