ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा... मौत पर विपक्ष ने जो राजनीति की है, वो अनफॉर्च्यून थी
January 13, 2020 • Dr. Surendra Sharma

कार्यालय संवाददाता

जयपुर। सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि नवजात शिशु मरता है तो पति और पत्नी को दुख होता है। जिसकी कोख से बच्चा जन्मा है, बच नहीं पाया, सबसे ज्यादा दुख उस मां को होता है। फिर पति को उसके बाद परिवार वाले गमसम रहते हैं। उसके लिए कोई बैठने जाने का तुक नहीं होता है। हम उनके घरों में बैठने जाएं, कभी नहीं होता है। मैंने कभी सुना नहीं आज तक कि शिशु मृत्युदर के अंदर कोई शिशु मर जाए, नहीं बच पाया हो जन्मते ही, वो 7 मास का होता है, 8 मास का होता है, 9 मास का होता है, वहां बैठने जाने का कोई तुक नहीं होता है। ये जो राजनीति की गई है, वो अनफॉर्च्यून राजनीति थी। वह शनिवार को पीसीसी में मीडिया से बातचीत कर रहे थे। कोटा में बच्चों की मौत के बाद परिजनों से मिलने के लिए डिप्टी सीएम सचिन पायलट और लोकसभा स्पीकर ओम बिडला गए थे। ____ मैंने कहा आईएमआर, एमएमआर शिशु मृत्युदर, मातृ मृत्युदर कम होनी चाहिए। मुझे खुशी है, 20 साल पहले जब ये 65 था, आईएमआर शिशु मृत्युदर, आज वो 38 पर आ गया है। लगातार जो हमने प्रयास किए हैं, सरकारें चाहे किसी की रही हों, कांग्रेस की रही हो या बीजेपी की रही हो। हमने जो आईसीयू बनाए बच्चों के लिए, रहे थे। कोटा में बन के लिए डिप्टी जिसको कहते हैं एनआईसीयू, नवजात शिशु के लिए आईसीयू, ये पहली बार बने हैं राजस्थान के अंदर जो मेरे वक्त बने थे जयपुर के अंदर भी, कोटा के अंदर भी, कोटा के अंदर एनआईसीयू बना, इस कारण से जो शिशु मृत्युदर है वो कम हुई। जब 5 साल रहा बीजेपी का तब भी लगातार कम हई थी. और चाहे इस बार 2019 की बात करें, 900 पर आ गए।

की मौत कामाने पर लियाजयपुर गई थीं तो कोटा भी जाती: मायावती शनिवार को बसपा सुप्रीमो मायावती ने एक बार कोटा में बच्चों की मौत का मामला उठाते हुए प्रियंका गांधी पर निशाने पर लिया। मायावती ने लगातार तीन ट्वीट करते हुए कहा है कि प्रियंका गांधी राजस्थान के जयपुर में शुक्रवार को एक निजी कार्यक्रम में शामिल होने गई थी। अगर वह थोड़ी दूर कोटा भी चली जाती तो ठीक रहता। प्रियंका गांधी भी एक मां है, अगर वह दुखी माताओं के साथ समय गुजारती तो सही होता। प्रियंका आए दिन यूपी में घडियाली आंसू बहाने आ जाती है, ऐसे में उनका कोटा में जाना ठीक होता। मायावती ने कहा कि कांग्रेस और बीजेपी हमेशा दोहरा मापदंड अपनाकर काम करती है। इसी का नतीजा है कि कांग्रेस यूपी को दूसरे नजरिए से देखती वह थोड़ी दूर दुखी माताओं के सा मां है, अगर वह