मध्य प्रदेशः सात घंटे के ड्रामे के बाद सिंधिया गुट के विधायकों का भोपाल आना कैसिल राज्यपाल ने सिंधिया गुट के 6 मंत्रियों को बर्खास्त किया
March 14, 2020 • Dr. Surendra Sharma

भोपाल। मध्यप्रदेश में सियासी उथल पुथल चरम पर है। शुक्रवार को सात घंटे के ड्रामे के बाद सिंधिया गुट के विधायकों का भोपाल आना आखिरी समय पर कैसिल हो गया। इस बीच राज्यपाल ने बेंगलुरु से इस्तीफा भेजने वाले 6 मंत्रियों को राज्यपाल ने कैबिनेट से बर्खास्त कर दिया है। सुबह राज्यपाल से मिलने पहुंचे मुख्यमंत्री ने इसकी सिफारिश की थी। कैबिनेट से बर्खास्त किए गए छह मंत्रियों के विभागों का जिम्मा अन्य मंत्रियों को दिया गया है। विजयलक्ष्मी साधौ को महिला बाल विकास, गोविंद सिंह को खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति, ब्रजेंद्र सिंह राठौर को परिवहन, सुखदेव पांसे को श्रम, जीतू पटवारी को राजस्व, कमलेश्वर पटेल को स्कूली शिक्षा और तरुण भनोट को स्वास्थ्य विभाग दिया गया है। विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति को अपने इस्तीफे भेजे हैं। इसके बाद स्पीकर ने नोटिस जारी कर विधायकों को हाजिर होने लिए कहा था। इनमें से 6 विधायकों को शुक्रवार, 7 विधायकों को शनिवार और बाकी 9 विधायकों को रविवार को उपस्थित होना है। एनपी प्रजापति ने कहा कि उन्होंने इस्तीफा देने वाले 6 विधायकों को आज मिलने का समय दिया था। प्रजापति ने कहा- मैंने आज तीन घण्टे तक विधायकों का इंतजार किया, लेकिन कोई नहीं आया। कल फिर नए विधायकों का इंतजार करूंगा। आज जो विधायक नहीं पहुंचे, उन्हें अगली तारीख दी जाएगी।

एयरपोर्ट पर एसटीएफ तैनात रही: एयरपोर्ट पहुंचे भाजपा कार्यकर्ता जब सिंधिया के समर्थन में नारेबाजी कर रहे थे, उसी दौरान वहां कांग्रेस विधायकों को सीआईएसएफ के जवानों ने रोक दिया। इसके बाद कांग्रेसियों ने सिंधिया के विरोध नारेबाजी की। भारी संख्या में दोनों ही तरफ के लोगों की मौजूदगी की खबर मिलने के बाद भोपाल कलेक्टर तरुण पिथौड़े और डीआईजी इरशाद वली एयरपोर्ट पहुंचे। मौके पर तनाव को देखते हुए कलेक्टर ने धारा-144 लागू करने के आदेश दिए।

इन विधायकों को भोपाल पहुंचना थाः सिंधिया गुट के विधायकों में से पहले प्लेन में भाजपा सांसद रमाकांत भार्गव और विधायक अरविंद भदोरिया के साथ कांग्रेस विधायक सुरेश धाकड़, जसवंत जाटव, इमरती देवी, मनोज चौधरी, एंदल सिंह कंषाना, रक्षा सिरोनिया को आना था। इस प्लेन में पुनीत शर्मा और मोहन सिंह भी सवार थे। दूसरे प्लेन में भाजपा नेता उमाशंकर गुप्ता के साथ कांग्रेस विधायक तुलसी सिलावट, गोविंद सिंह राजपूत, प्रद्युम्न सिंह तोमर, प्रभुराम चौधरी, राज्यवर्धन सिंह दत्तीगांव, महेंद्र सिंह सिसोदिया, कमलेश जाटव वापस लौटने वाले थे। वहीं विधायक रक्षा सिरोनिया के पति संतराम भी इसी प्लेन से आ रहे थे।