ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
कानून मंत्री रविशंकर ने कही सोनिया गांधी ने भड़काऊ भाषण दिया
February 29, 2020 • Dr. Surendra Sharma

एजेंसी

नई दिल्ली। कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने शुक्रवार को दिल्ली हिंसा को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस पर निशाना साधा। उन्होंने कहा- सोनिया गांधी ने लोगों के बीच भड़काऊ भाषण दिया। सीएए को _लोकतांत्रिक तरीके से पूरी बहस के बाद लाया गया है, तब भी कांग्रेस इसका विरोध कर रही है। वहीं, कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने प्रधानमंत्री मोदी पर तंज कसा। उन्होंने ट्वीट किया- तत्काल जवाब, हमारे भाई-बहनों से 69 घंटे बाद अपील करने के लिए धन्यवाद, मोदीजी। इस बीच 38 लोगों की मौत हो गई। अभी भी मरने वालों की गिनती जारी है, करीब 200 घायल हो गए। जहां तक हमारे मुख्यमंत्री की बात है तो उन्होंने प्रार्थना की और आपके मंत्री कांग्रेस पर आरोप लगाए।

सिब्बल ने कहा- जो 8 सीटें बीजेपी ने जीती उनमें से 5 जो सीटें हैं वो इसी उत्तर-पूर्व दिल्ली में है तो क्यों केवल उत्तर-पूर्व दिल्ली में ये हादसे हुए जहां बीजेपी जीती है, ये सवाल हमें पूछना होगा और इसका जवाब भी मिलना चाहिए। प्रसाद ने कहा- विवादित बयानों पर पार्टी ने संज्ञान लिया दिल्ली हिंसा के मामले में कार्रवाई के मुद्दे पर प्रसाद ने कहा- इस पर पुलिस एक्शन लेगी। जहां तक भाजपा के कुछ नेताओं के बयानों का सवाल है, पार्टी ने इस पर संज्ञान लिया है। उन्होंने कहाअब दूसरा सवाल करना है मुझे सोनिया गांधी से। ये दसरा नोटिफिकेशन है 2010 का, जिसमें देश में जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) लागू करने की बात कही गई थी। लेकिन, अब अपनी सरकार के दौरान हुए फैसले से ही कांग्रेस पीछे हट रही है।

सोनिया हमें राजधर्म न सिखाएंः प्रसाद भाजपा नेता ने कांग्रेस पर प्रताड़ना का शिकार हुए धार्मिक अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने के मुद्दे पर अपने रुख से पलटने का आरोप लगाया। प्रसाद ने कहासोनिया गांधी हमें राजधर्म न सिखाएं। आपका इतिहास मुद्दों पलटने और रुख बदलने का रहा है_ 'भाजपा संवेदनशील मुद्दों का राजनीतिकरण नहीं करती' भाजपा ने आरोप लगाया कि कांग्रेस वोट बैंक की राजनीति के लिए किसी भी हद तक गिर सकती है, लेकिन उसे देश में शांति और भाईचारा बनाए रखने के लिए जिम्मेदारी से काम करना चाहिएभाजपा इस प्रकार के संवेदनशील मुद्दों का विशुद्ध राजनीतिकरण करने की कड़ी निंदा करती है। हम सभी को मिलकर शांति और सौहार्द कायम करने के लिए साथ मिलकर बात करनी चाहिए।