ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
झेर एनिकट का शिलान्यास एवं आईटीआई भवन का उद्घाटन आदिवासी क्षेत्रों के सर्वांगीण विकास के लिए हरसम्भव प्रयास: मुख्यमंत्री गहलोत
December 28, 2019 • Dr. Surendra Sharma

कार्यालय वाददाता

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि राज्य सरकार पिछड़े एवं आदिवासी क्षेत्रों के सर्वांगीण विकास के लिए हरसम्भव प्रयास कर रही है। इन क्षेत्रों के विकास में किसी तरह की कमी नहीं रखी जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के टीएसपी क्षेत्रों के योजनाबद्ध विकास के लिए सरकार विशेष ध्यान रख रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके जीवन का एकमेव लक्ष्य जनता की सेवा करना है। वे निरन्तर समर्पित होकर काम करते रहेंगे।

गहलोत गुरूवार को बांसवाड़ा जिले की बागीदौरा पंचायत समिति के झेर गांव के निकट एनिकट के शिलान्यास एवं आईटीआई भवन के उद्घाटन समारोह में उपस्थित जनसमुदाय को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सरकार ने आदिवासी क्षेत्रों में बुनियादी सुखसुविधाओं के विकास, विस्तार तथा आदिवासियों के उत्थान के काम को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है। आदिवासी क्षेत्रों में युवाओं का भविष्य संवारने के लिए इंजीनियरिंग और मेडिकल कॉलेज के साथ ही शैक्षिक संस्थाओं का विस्तार किया है। ___मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण अपने बच्चों खासकर बालिकाओं को पढ़ाएंलिखाएं और उन्हें आत्मनिर्भर बनाएं। शिक्षा के क्षेत्र में सरकार कोई कमी नहीं रखेगी। जहाँ जरूरत होगी, वहां स्कूल खोले जाएंगे। उन्होंने कहा कि आदिवासी क्षेत्रों में एनिकट्स बनाकर सिंचाई सुविधाओं के विस्तार के साथ ही आवागमन और यातायात सुगम बनाने के लिए विभिन्न क्षेत्रों में सेतुओं का निर्माण किया गया है। इससे ग्रामीणों को विभिन्न क्षेत्रों में आने-जाने में सहूलियत हुई है। गहलोत ने युवाओं को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में आईटी क्षेत्र की भूमिका पर विशेष जोर दिया। उन्होंने कहा कि पूर्व सरकारी विद्यालयों प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की बदौलत आज देश का युवा वर्ग आईटी से जुड़कर बेहतर भविष्य की ओर बढ़ रहा है। युवाओं को चाहिए कि इस क्षेत्र में चल रही योजनाओं का लाभ लें और सामाजिक एवं आर्थिक उत्थान में भागीदारी निभाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि 'पहला सुखनिरोगी काया' के मूल मंत्र को साकार करने के लिए राज्य सरकार ने 'निरोगी राजस्थान' अभियान की शुरूआत की है, विद्यालयों में अंग्रेजी एवं ताकि प्रदेशवासी स्वस्थ, सुखी एवं समृद्ध होकर प्रदेश के विकास में अपनी भागीदारी निभा सकें। उन्होंने सभी लोगों से निरोगी राजस्थान अभियान से जुड़ने का आह्वान किया। विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी ने कहा कि सरकार आदिवासी क्षेत्र के विकास के लिए कृत संकल्पित है। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में सिंचाई सुविधाओं के विकास के लिए किसी प्रकार की कमी नहीं रहने दी जाएगी। उन्होंने ग्रामीणों का आह्वान किया कि वे नई पीढ़ी को शिक्षा से जोड़कर अपने विकास का मार्ग प्रशस्त करें। समारोह में मोटर गैराज राज्यमंत्री राजेन्द्र सिंह यादव, पूर्व मंत्री एवं विधायक महेन्द्रजीत सिंह मालवीया, जिला प्रमुख श्रीमती रेशम मालवीया, विधायक रामलाल मीणा पूर्व संसदीय सचिव नानालाल निनामा, बांसवाड़ा नगर परिषद के सभापति जैनेन्द्र त्रिवेदी सहित अन्य जनप्रतिनिधि, समाजसेवी एवं बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।