ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
जेकेके में राष्ट्रीय युवा संगीत समारोह का दूसरा दिन
December 21, 2019 • Dr. Surendra Sharma

संगीत गुरु डॉ. संगीता पंडित व डॉ. चेतना बनावत की सुमधुर प्रस्तुतियों से मंत्रमुग्ध हुए श्रोता 

जयपुर, 21 दिसंबर। जवाहर कला केंद्र (जेकेके) में आयोजित किए जा रहे राष्ट्रीय युवा संगीत समारोह के दूसरे दिन शनिवार को रंगायन सभागार में संगीत गुरु डॉ. संगीता पंडित एवं डॉ. चेतना बनावत ने शास्त्रीय गायन की सुमधुर प्रस्तुतियां दी। कार्यक्रम में बनारस घराने की वरिष्ठ कलाकार संगीता पंडित ने उपशास्त्रीय संगीत की विभिन्न शैलियों में  सुर, लय और ताल की खूबसूरत बानगी के साथ रसीला प्रदर्शन किया। पं.सुरेन्द्र मोहन मिश्र मोहन की इस शिष्य कलाकार ने पूरब अंग का पांडित्यपूर्ण प्रदर्शन कर श्रोताओं को आह्लादित किया। उन्होंने पूरब अंग में ठुमरी, चेती,  दादरा   और 12 मात्रा को बंदिशों को नाजोअदा पेश कर माहौल को बनारसी रंग में रंग दिया। आकाशवाणी से बी हाई ग्रेड की कलाकार  ने जत ताल में निबद्ध राग पीलू में पिरोई ठुमरी की रचना तुम राधे बनो श्याम..., राग किरवानी में ढली दादरा की बंदिश तड़पे जिया बिन बालम..., चेती की बंदिश मोतिया हिराए गईल रामा... के बाद 12 मात्रा की रचना लइना जा मैं तोसे ना ही बोले...को पूरे मनोयोग से पेश की। फिर उन्होंने राग भैरवी में भजन जा मैं तोसे ना ही बोलूं की दिलकश प्रस्तुति से अपने कार्यक्रम को विराम दिया।  तबले पर बनारस घराने के अभिनव नारायण आचार्य और हारमोनियम पर पंकज शर्मा और पंकज श्रीनाथन ने प्रभावी संगति की।

पद्मभूषण प्रभा अत्रे की शिष्य कलाकार चेतना बनावत ने अपने गायन से किराना घराने की खुशबू बिखेरी। उन्होंने राग रागेश्री के सुर साधे। संगीत नाटक आकदमी के युवा पुरस्कार से नवाजीं गई इस कलाकार ने उन्होंने तीन बंदिशों को नजाकत से पेश कर अपने रियाज और तैयारी पक्ष का बेहतरीन प्रदर्शन किया। उन्होंने  विलंबित  लय एक ताल में निबद्ध राग रागेश्री की बंदिश गिनत रही तारे, छोटा ख्याल पिया घरवा ना आए मोरे की प्रस्तुति में कण स्वर, सुर लगाव और पकड़ का उम्दा प्रदर्शन कर माहौल में शास्त्रीय सुरों का सुरूर घोल दिया  । डॉ. प्रभा अत्रे के भजन 'जगत जननी भव ताारिनी' के साथ उनके कार्यक्रम का समापन हुआ। उनके साथ हारमोनियम पर गिरिराज बालोदिया व तबला पर दिनेश खींची ने संगत की। 

संगीत समारोह के अंतिम दिन रविवार, 22 दिसम्बर को अवॉर्ड सेरेमनी का आयोजन किया जाएगा। इस अवसर पर बॉलीवुड के मशहूर म्यूजिक डायरेक्टर, दिलीप सेन और प्लेबैक सिंगर सारिका सिंह प्रस्तुतियां देंगी।