जरूरत मंदो के साथ मूक पक्षियों की सेवा में भी जुटी है सनातन सेना
April 6, 2020 • Dr. Surendra Sharma

 जरूरत मंदो के साथ मूक पक्षियों की सेवा में भी जुटी है सनातन सेना                                                        जयपुर 6 अप्रैल।सनातन सेवा समिति  अपने 150  से अधिक सक्रिय सदस्यों व 108 भामाशाहों की मदद से  सनातन धर्म रक्षार्थ, जन हितार्थ, प्रकृति व जीव सेवार्थ कार्य करते  हुए, ऊंच नीच, गरीब अमीर, जाति पंथ व पूजा पद्धति का सम्मान करते हुए सभी सनातनी सज्जन शक्तियों को राष्ट्र हितार्थ एक मंच पर रखते हुए , हाल ही में देश और विश्व भर में फैली कोरोना नमक महामारी के विकराल रूप को देखते हुए, लॉक डाउन व कर्फ्यू जैसे हालातो से उन दिहाड़ी मजदूरों के लिए उपजे रोजी रोटी के संकट को ध्यान में रखते हुए सनातन सेवा समिति के कर्मठ, राष्ट्र भक्त भाईयो व बहनों ने सभी जरूरत मंद लोगो को शुद्ध हाइजीनिक खाना पहुंचाने का निश्चय किया।                                                                      इस कड़ी में  26 मार्च से  5 अप्रैल तक लगातार *ग्यारहवें दिन* वैशाली नगर, बजरी मंडी, गुर्जर की थड़ी, अजमेर रोड ,सिरसी रोड , कनकपुरा आदि इलाकों में लगभग 450 भोजन पैक वितरित किए, अब तक लगभग 5500 फूड पैकेट्स ,150 से अधिक सूखे राशन के पेक, सेंकड़ों की संख्या में मास्क, सेनेटाइजर व ग्लव्स वितरित किए जा चुके है। खाना बनाने से लेकर वितरण तक हाथो में ग्लव्स, मुंह पर मास्क व हेंड सेनेटाइजर का इस्तेमाल हर सदस्य द्वारा किया जाता है।                                                                                   सक्षम थाना अधिकारी द्वारा अनुज्ञा पत्र में नामित सदस्य व वाहन ही इस कार्य में उपयोग होते है। हजारों की संख्या में निरीह पक्षियों के लिए भी एक क्विंटल से अधिक पक्षी दाना डलवाया गया। टीम के सक्रिय सदस्य  गणेश सिंह नाथावत व वाई पी सिंह,कामिनी माथुर, निखिल माथुर, हिम्मत सिंह, भीम सिंह, हेमेंद्र सिंह, नरेश सिंह, राजू बना, सुरेन्द्र सिंह, प्रभु सिंह आ अन्य कई सदस्यों ने समस्त खातीपुरा क्षेत्र जिसमें जशवंत नगर, चांद बिहारी नगर, नव जीवन, महंत , सुंदर नगर, रजीत नगर, महाराणा प्रताप नगर, सिंहभूमि, के 5 सी आदि अनेकों कॉलोनियों को अपने संसाधनों द्वारा सेनेटाइज किया, सेनेटाइज करते समय व खाना वितरण करते समय समस्त क्षेत्र वासियों की सोशल डिस्टेंस मेंटेन करने की आवश्यकता, लॉक डाउन का पालन व साबुन द्वारा निरंतर हाथ मुंह धोते रहने की अपील की गई। बाहर से आने वालों पर नजर रखी गई। ईश्वर की कृपा है कि क्षेत्र में एक भी व्यक्ति भूखा नहीं रहा, और अभी तक इस महामारी की चपेट में नहीं आया।                                                      सनातन सेवा समिति अपने इस कार्य को लॉक डाउन की अवधि 14 अप्रैल के समाप्त होने तक नियमित रूप से करेगी , अगर जरूरत पड़ी तो इसे और आगे तक भी किया जाएगा। इस मुहिम को सफल बनाने में समाज के सौ से ज्यादा भामाशाहों ने आर्थिक सहयोग किया, जिनका सनातन सेवा समिति सदैव कृतज्ञ रहेगी। जय हिन्द, जय भारत, जय सनातन