ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
जन्मजात हृदय रोग से पीड़ित बच्चों को नारायणा हॉस्पिटल, जयपुर देगा नया जीवन
February 13, 2020 • Dr. Surendra Sharma

कार्यालय संवाददाता

जयपुर। हृदय की जन्मजात बीमारियों से जूझ रहे मासूमों के लिए जयपुर शहर के नारायणा मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटल ने पहल की है। गुरुवार, 13 फरवरी से प्रातः 10 से 3 बजे, हॉस्पिटल में स्क्रीनिंग कैम्प आयोजित किया जायेगा। इस कैम्प द्वारा आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों (नवजात से 18 वर्ष की उम्र तक) को रियायती दरों पर ईलाज सुविधा (सर्जरी । इंटरवेंशन) मिल सकेगी। 

हॉस्पिटल के पीडियाट्रिक कार्डियक सर्जन व पीडियाट्रिक कार्डियोलॉजिस्ट (शिशु हृदय रोग विशेषज्ञ) की विशेषज्ञ टीम इस कैम्प द्वारा चयनित बच्चों की रियायती दरों पर सर्जरी व इलाज करेंगे। अगर पहले भी बच्चे की कोई जांच करवाई गई हो तो परिजनों को वह रिपोर्ट साथ लानी होगी। नारायणा मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटल, जयपुर की जोनल क्लीनिकल डायरेक्टर डॉ. माला ऐरन ने बताया कि हमारी इस पहल पिछले कई सालों में सैंकड़ों जरूरतमंद बच्चों की सहायता की । हमारा प्रयास है कि ऐसे बच्चों के इलाज में मदद करके उन्हें खुशहाल जिन्दगी दी जाएं, जो काफी समय से इलाज व सर्जरी के लिए इंतजार कर रहें है। हम हमारी सहयोगी संस्थाओं के शुक्रगुजार हैं जिनके वित्तीय सहयोग से बच्चों को विश्वस्तरीय इलाज मिल पा रहा ।

नारायणा मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटल, जयपुर के पीडियाट्रिक कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. प्रशांत महावर बताया कि नारायणा हॉस्पिटल पीडियाट्रिक कार्डियक साइंसेज विभाग में बच्चों के जटिल हृदय रोगों के इलाज का व्यापक मॉडल और हमारी समर्पित व अनुभवी टीम बच्चों के बेहतर उपचार सुनिश्चित करती है। प्रतिवर्ष नारायणा मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटल, जयपुर ऐसे कैम्प जरिए राजस्थान, मध्यप्रदेशउत्तरप्रदेश, पंजाब एवं हरियाणा आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों जन्मजात हृदय विकारों का इलाज करने के कार्य में एक सशक्त माध्यम बना हआ है। ऐसे कैम्पों जरिए नारायणा मल्टीस्पेशियलिटी हॉस्पिटल बड़े पैमाने पर बच्चों हृदय संबंधित परेशानियों के प्रति जागरूकता लाने के लिए प्रयासरत है।