ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
जैन समाज की बैठक-राष्ट्रीय स्तर पर त्रि-दिवसीय महोत्सव 22 से
February 13, 2020 • Dr. Surendra Sharma


-- मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सहित होंगे देशभर के गणमान्य लोग शामिल

जयपुर। छोटी काशी के नाम से विख्यात धर्मनगरी जयपुर शहर के अजमेर रोड़ स्थित बड़ के बालाजी चन्द्रपुरी के दिगम्बर जैन मंदिर और गुरुमां सुपार्श्वमती माताजी के समाधी स्थल के भव्य प्रांगण पर पूज्य गणाचार्य विराग सागर महाराज की शिष्या गणिनी आर्यिका विज्ञाश्री माताजी के 25 वें रजत दीक्षा जयंती महामहोत्सव का त्रिदिवसीय समापन समारोह सोमवार, 22 फरवरी से सोमवार, 24 फरवरी तक भव्यता के साथ राष्ट्रिय स्तर पर मनाया जाएगा। इस महामहोत्सव में राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सहित राज्य के विभिन्न मंत्री, प्रशासनिक अधिकारी, देशभर से समाज के गणमान्य लोग शामिल होंगे। गुवाहाटी के श्रीपाल, भागचंद चूड़ीवाल परिवार महोत्सव का ध्वजारोहण कर शुभारंभ करेगे। सोमवार को भट्टारकजी की नसियां में आयोजित सकल दिगम्बर जैन समाज जयपुर की बैठक के दौरान समाज के विभिन्न गणमान्यों की उपस्थिति में समारोह के पोस्टर का विमोचन किया गया।

महोत्सव अध्यक्ष सुभाष पाटनी ने बताया 22 फरवरी से आयोजित तीन दिवसीय महोत्सव के प्रथम दिन की शुरुवात विभिन्न सांस्कृतिक आयोजनों के साथ होगी। समारोह का मुख्य आयोजन दूसरे दिन रविवार 23 फरवरी को आयोजित होगा जिसमें प्रातः 8 बजे ध्वजारोहण, चित्र अनावरण, दीप प्रवज्जलन के साथ 2500 से अधिक जोड़ो द्वारा जिन सहस्त्रनाम महामण्डल विधान पूजन के साथ जिनेन्द्र आराधना और अर्चना करते हुए अष्ट द्रव्यों से पूजन किया जाएगा। इसी समारोह के दौरान मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आयोजन में भाग लेंगे और अंतिम दिन सोमवार 24 फरवरी को आयोजन का समापन विभिन्न सांस्क्रतिक कार्यक्रमों एवं गणिनी आर्यिका विज्ञाश्री माताजी के मंगल आशीर्वाद व आशीर्वचन के साथ संपन्न होगा। इस त्रिदिवसीय महायोजन में देशभर के 25 हजार से अधिक श्रद्धालुगण सम्मिलित होंगे। एक वर्ष पूर्व जयपुर के टोंक रोड़ स्थित अतिशय क्षेत्र बाड़ा पदमपुरा में 25 वाँ रजत दीक्षा जयंती पर्व का शुभारंभ हुआ था जो जयपुर, अजमेर और टोंक जिले के विभिन्न मंदिरों में पूरे 1 वर्ष तक मनाया गया और अब इसका समापन बड़ के बालाजी में आयोजित होगा। पदमपुरा में आयोजित समारोह के दौरान 20 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने भाग लिया था। 

महोत्सव समिति महामंत्री अशोक जैन नेता ने बताया की सोमवार को सायं 5.15 बजे से सकल दिगम्बर जैन समाज की बैठक का आयोजन किया गया था, इस बैठक में जयपुर के विभिन्न कॉलोनियों से विचार समिति के समक्ष रखे जिस पर तत्काल पालन करते हुए महोत्सव को सफल बनाने का मंत्र सभी पदाधिकारियों और गणमान्यों को प्रदान किया गया। अध्यक्ष सुभाष पाटनी ने अपने संबोधन में महोत्सव की तैयारियों और व्यवस्थाओं की जानकारी थी और सभी से प्रस्ताव भी मांगे, अध्यक्ष ने अपने संबोधन में कहा कि महोत्सव राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित हो रहा है जो जयपुर के लिए गौरव की बात है, हम सभी को मिलकर जयपुर का मान और सम्मान बढ़ाना है जिसके लिए महोत्सव को हर प्रकार हर व्यवस्थाओं के साथ सफल बनाना है। सोमवार को आयोजित बैठक में जयपुर की सभी मंदिर प्रबंध कार्यकारिणी, युवा मंडल, महिला मंडल, मुनि संघ व्यवस्था समिति, जयपुर की सभी सहयोगी संस्थाएं, पांडव ग्रुप जयपुर और चाकसू, जैन सोश्यल ग्रुप, दिगम्बर जैन सोश्यल ग्रुप सहित समाज के सभी श्रेष्ठियों और श्रावकों की मीटिंग का आयोजन महोत्सव अध्यक्ष सुभाष पाटनी एवं कार्याध्यक्ष अधिवक्ता हेमंत सोगानी के निर्देशन में आयोजित की गई।

मंत्री एड्वोकेट जीतेन्द्र मोहन जैन ने बताया की आयोजन में देशभर से सम्मिलित होने वाले किसी भी आगन्तुको और अतिथियों के किसी भी प्रकार को कोई समस्या ना, किसी भी प्रकार की कोई अव्यवस्था ना हो को लेकर इस मीटिंग का आयोजित की गई थी। जिस पर समाज के विभिन्न श्रेष्ठियों ने सुझाव भी दिए और व्यवस्थाओं में साथ देने का भी संकल्प लिया। इस मीटिंग में समाज सेवी भागचंद चूड़ीवाल, गणेश राणा, देवप्रकाश खंडाका, नरेन्द्र पाटनी, नरेश जैन, भागचंद जैन, परामर्शक महेश काला, पदमपुरा समिति अध्यक्ष सुधीर जैन, कार्यक्रम संयोजक कमल काला, वीर सेवक मंडल मंत्री भानु छाबड़ा, जोहरी बाज़ार महिला मंडल अध्यक्ष डॉ शिला जैन, मंत्री पुष्पा सोगानी, श्रीमती इंद्रा बडजात्या, मनीष वेद, योगेश टोडरका, धीरज पाटनी, महेंद्र पाटनी, अभिषेक जैन बिट्टू, प्रचार संयोजक नरेश कासलीवाल, प्रचार संयोजक विनोद जैन कोटखावदा, राजाबाबू गोधा, प्रमोद बाकलीवाल सहित जयपुर जैन समाज के विभिन समाज श्रेष्ठीयों ने भाग लिया।