ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
जाफराबाद इलाके में दो गुटों के बीच पथराव, यही पर सीएए के विरोध में महिलाएं धरने पर बैठी
February 24, 2020 • Dr. Surendra Sharma

एजेंसी

नई दिल्ली। दिल्ली के जाफराबाद के पास मौजपुर में दो गुटों के बीच पथराव हुआ। पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े। दरअसल, मौजपुर के पास भाजपा नेता कपिल मिश्रा और उनके समर्थक सीएए के समर्थन में हनमान चालीसा का पाठ कर रहे थे। आरोप है कि इसी दौरान सीएए के विरोधियों और समर्थकों के बीच पथराव की स्थिति बन गई। इससे पहले शनिवार देर रात शाहीनबाग की तर्ज पर नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ जाफराबाद मेट्रो स्टेशन पर महिलाओं ने प्रदर्शन शुरू कर दिया। रविवार दोपहर चांदबाग में भी ऐसा ही प्रदर्शन शुरू हुआ।

कहना था कि जब तक केंद्र सरकार सीएए को वापस नहीं लेती है, तब तक यह प्रदर्शन जारी रहेगा। वहीं, सरिता विहार और जसोला के स्थानीय लोगों ने प्रदर्शन के खिलाफ आंदोलन शुरू कर दिया। लोगों का कहना है कि शाहीनबाग, चांदबाग और जाफराबाद में हो रहे प्रदर्शन से उनका जनजीवन प्रभावित हो रहा है।

मेट्रो स्टेशन में आने-जाने के गेट बंद कर दिए गएमहिलाओं के प्रदर्शन के चलते दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने जाफराबाद स्टेशन पर मेट्रो ट्रेनों के रूकने पर रोक लगा दी है। मेट्रो स्टेशन में आनेजाने के गेट बंद कर दिए गए हैं। सलीमपुर को यमुना विहार और मौजपुर से जोड़ने वाली सड़कें भी बंद हो गई हैं। भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है। प्रदर्शनकारी महिलाएं हाथों में तिरंगा लेकर आजादी के नारे लगा रही हैं। सामाजिक कार्यकर्ता फहीम बेग ने कहा- सरकार इस मुद्दे को लेकर लापरवाही बरत रही है। इससे लोगों का गुस्सा और भी बढ़ता जा रहा है।