ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
गहलोत ने टिड्डी प्रभावित इलाके में फसलों की हालत देखी, किसान बोले... हम बर्बाद हो गए, मुआवजा दिया जाए
December 31, 2019 • Dr. Surendra Sharma

निजी संवाददाता

जोधपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को बाड़मेर जिले के धनाऊ क्षेत्र में टिड्डी प्रभावित क्षेत्र का दौरा किया। किसानों ने गहलोत को बताया कि लाखोंकरोड़ों की संख्या में आई टिड्डी उनकी फसल चट कर चुकी हैं। ऐसे में किसानों की हालत बहुत खराब हो चुकी है। सरकार उन्हें मुआवजा दे। गहलोत ने किसानों की पीड़ा सुनी और हरसंभव मदद दिलाने का भरोसा दिलाया। टिड्डी प्रभावित क्षेत्रों का जायजा धनाऊ पहुंचे। यहां अधिकांश खेतों में लेने के लिए रविवार शाम बाड़मेर पहुंचे टिड्डी पूरी फसल चट कर चुकी हैं। गहलोत सोमवार सुबह सबसे पहले परेशान किसान अपने खेत रामभरोसे छोड़ चुके हैं। गहलोत ने कुछ खेतों का जायजा लिया। इसके बाद किसानों से मुलाकात की। महिलाओं ने टिड्डी से हुए नुकसान के बारे में गहलोत को विस्तार से जानकारी दी। किसानों ने गहलोत को बताया कि जुलाई में सबसे पहले टिड्डी हमला हुआ था। उस समय टिड्डी सारी फसल खा गई। अब एक बार फिर टिड्डियों के बड़े समूह ने हमला बोल दिया। गहलोत जालोर जिले के सांचौर क्षेत्र में टिड्डी प्रभावित क्षेत्र का जायजा लेने निकले। सांचौर से गहलोत जैसलमेर जिले के रामगढ़ का भी दौरा करेंगे। फसल बर्बादी का मुआवजा दिलाओ: किसानों की मांग है कि मुख्यमंत्री फसल बर्बादी का मुआवजा दिलाएं। रबी सीजन में एक-एक किसान को 8-10 लाख रुपए की फसल खराब हुई है। पीएम फसल बीमा में टिड्डी जैसी आपदा को शामिल करने की मांग की गई है, ताकि इंश्योरेंस करने पर किसानों की फसल कवर हो सके। 7 अरब की फसल चट कर गई टिड्डी: पाकिस्तान से बड़े झुंड के रूप में भारत में घुसी टिड्डी ने किसानों को बर्बादी कर दी हैं। ये वे घुसपैठिए थीं, जो आसमान से आईं और तबाही मचाकर लौट गईं। 27 जुलाई को बाड़मेरजैसलमेर में पहला टिड्डी अटैक हुआ था। पहले खरीफ की फसल चट की और अब रबी की फसल को चट कर किसानों को बर्बाद कर दिया। टिड्डी का ऐसा हमला हुआ कि 5 माह में केंद्र व राज्य सरकार ने टिड्डी प्रभावित इलाकों का दौरा नहीं किया। 5 माह में राजस्थान के 9 और गुजरात के 2 जिलों में 7 अरब की फसल टिड्डी चट कर गई है।