ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
दिल्ली गोलीकांड: सीएए के खिलाफ मार्च से पहले युवक ने फायरिंग की, कहा..ये लो आजादी, वारदात से पहलेफेसबुक लाइव भी किया
January 31, 2020 • Dr. Surendra Sharma

एजेंसी

नई दिल्ली। सीएए और एनआरसी के खिलाफ मार्च से पहले गुरुवार को जामिया यूनिवर्सिटी के पास एक युवक ने फायरिंग की। इससे वहां अफरातफरी मच गई। युवक करीब 12 पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में काफी देर तक देसी कट्टा लहराता रहा और हवाई फायरिंग की। उसने गोली चलाते वक्त 'ये लो आजादी' के नारे भी लगाए। गोली लगने से जामिया में मॉस कम्युनिकेशन की पढ़ाई कर रहा छात्र शादाब फारूक जख्मी हो गया। उसे एम्स ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है। गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- किसी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।

जामिया के छात्रों ने विरोध में पुलिस गो बैक के नारे लगाए: जामिया कोऑर्डिनेशन कमेटी (जेसीसी) गुरुवार को सीएए और एनआरसी के विरोध में राजघाट तक मार्च निकाल रही थी। यूनिवर्सिटी की छात्रा आमना आसिफ ने कहा- 'हम मार्च निकालते हुए आगे बढ़ रहे थे, लेकिन हॉली फैमिली हॉस्पिटल के पास पुलिस ने रास्ते में बेरिकेडिंग कर रखी थी। अचानक से एक युवक हथियार लहराता हुआ आया और गोलियां चलाने लगा। एक गोली मेरे दोस्त शादाब फारूक के बाएं हाथ में लगी। वह मॉस कम्युनिकेशन की पढ़ाई कर रहा है।' पिछले महीने भी सीएए के विरोध प्रदर्शन के दौरान जामिया यूनिवर्सिटी और उसके आसपास के इलाके में हिंसा हुई थी।

आसपास के इलाके में हिंसा हुई थी। ओवैसी बोले... मोदी अब हमलावर को कपड़े से पहचानें: एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने घटना के बाद ट्वीट किया- अनुराग ठाकुर और उनके साथ रैली में मौजूद सभी देशभक्तों को नफरत फैलाने के लिए शुक्रिया। अब छात्रों को सीधे गोली मारी जा रही है और पुलिस खड़ी देख रही है। अब पीएम मोदी इसे कपड़े से पहचानें।