ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
दर्दनाक :सुबह हंसी-खुशी से हुए थे शादी के कार्यक्रम, रात को वापस गांव लौटते वक्त हादसे में 9 की मौत
February 12, 2020 • Dr. Surendra Sharma

भीलवाड़ा। जिले के बीगोद और त्रिवेणी के बीच सोमवार रात कोटा से भीलवाड़ा आ रही रोडवेज बस ने क्रूजर गाड़ी टक्कर मार दी। क्रूजर जीप बिल्कुल पिचक गई। क्रूजर में बैठे 15 में से 9 लोगों दर्दनाक मौत हो गई। इनमें से 7 एक परिवार के थे। बाकी दो में एक उनका पारिवारिक मित्र और दूसरा जीप का ड्राइवर था। पुलिस को क्रूजर जीप से शव निकालने में ही दो घंटे लग गए। 

भीलवाड़ा रेफर किए गए घायलों में से लोगों की भीलवाड़ा जिला अस्पताल में हो गई। क्रूजर में सवार 6 लोग भी गंभीर घायल हैं। इनमें तीन साल की एक बालिका भी हैं। क्रूजर जीप में सवार लोग मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले के संधारा गांव के रहने वाले हैं, जो भीलवाड़ा में शादी समारोह में बुआ के लिए मायरा लेकर आए थे। मायरा भरने के बाद वापस अपने गांव जा रहे थे। रोडवेज बस में बैठे कुछ यात्री भी घायल हुए हैं। हादसा बीगोद व त्रिवेणी के बीच पावनधाम के पास हुआ: पुलिस ने लोगों की सहायता से गाड़ी में फंसे शवों निकालने का प्रयास शुरू कर दिया। हादसे बस चालक सहित कुछ सवारियों को चोटें आई हैं।

सामने आने से ड्राइवर घबरा गया साइड लेने लगा तो सामने ऋजर से भिड़ी: हादसे में घायल बस सवार कोतवाली के हैड कांस्टेबल रामप्रसाद ने बताया कि कोटा से शाम 7 बजे भीलवाड़ा रवाना हुए। बीगोद के पास बस के आगे ट्रैक्टर चल रहा था। पहले बस ड्राइवर को ट्रैक्टर नजर नहीं आया। बस जब ट्रैक्टर के पास पहुंची तो अचानक ट्रैक्टर दिखा। बस ड्राइवर घबरा गया और ट्रैक्टर को बचाने के लिए बस को साइड में घुमाया। इतने में सामने की तरफ से आ रही जीप से टकरा गई। बस भी खड्डे में गिरी। रामप्रसाद के साथ कोतवाली के दो और कांस्टेबल भी थे। बिजौलिया से बस में बैठे कैलाश चंद्र का कहना था कि अचानक ट्रैक्टर आने से ही एक्सीडेंट हुआ

अचानक धमाका हुआ, आंख खुली तो खुद को सीट पर फंसा पाया, लोगों ने निकाला, अस्पताल पहुंचाया रोडवेज बस में घायल सीकर हाल आजादनगर निवासी गोविंदकुमार सैनी ने बताया कि वह सेल्समैन है। कोटा से आ रहा था। ड्राइवर सीट से तीसरी लाइन में सीट पर बैठा था। हादसा कैसे हुआ पता नहीं। अचानक धमाका हुआ। आख खुली तो पता चला कि बस खड्डे में गिरी हुई है और वह भी सीट पर फंसा हुआ है। उसे लोगों ने बाहर निकालकर अस्पताल पहुंचाया। त्रिलोक पंडित की बहन की शादी भीलवाड़ा में थी। पूरा परिवार शामिल होने के लिए आया था। लौटते समय हादसा हो गया। ये लोग रामगंजमंडी क्षेत्र के जगदीश गुर्जर की जीप लेकर भीलवाड़ा गए थे। बस ड्राइवर पीछे देख रहा था, नहीं एसोसिएशन दिखा ट्रैक्टर: बस को तेज स्पीड में चला निर्वाचन रहे ड्राइवर की यात्रियों से भी बहस चल रही वर्तमान थी। इस कारण उसे बस के आगे चल रहा संयुक्त ट्रैक्टर नजर नहीं आया। इस दौरान वह बस वार्ता के यात्रियों की ओर देख रहा था। जैसे ही कमेटी उसे पता चला। उसने बस को बचाने की कि कोशिश की, लेकिन तब तक काफी देर हो निर्वाचन चुकी थी। दूसरी ओर, ट्रैक्टर के भी पीछे फरवरी लाइट और रिफ्लेक्टर नहीं थे। मानसिंह राज्य