ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
दाम दो सम्मान पाओ-  भले ही आपने किसी भी क्षेत्र में कोई काम नहीं किया हो तो भी दुकानें बना सकती हैं आपको भामाशाह      
February 1, 2020 • Dr. Surendra Sharma

जयपुर, कहीं कोई सामाजिक काम नहीं किया हो लेकिन आपकी जेब में वजन है तो जयपुर में ऐसी कई दुकानें खुल चुकी हैं जो आपको सम्मान भी देंगी और आपकी प्रशंसा के पुल भी बांधेंगी और आपके नाम की चर्चा प्रमुख लोगों में भी होगी, इतना ही नहीं आप राजस्थान गौरव या राजस्थान शिरोमणि, समाज रत्न जैसी विभूतियों से भी सम्मानित हो सकते हैं लेकिन यह सम्मान लेने के लिए आपको आयोजकों की इच्छा अनुसार उनकी जेब गर्म करनी होगी। जयपुर में इस प्रकार की दुकाने कई दशकों से चल रही है। कुछ लोगों ने तो इसे अब अपनी आय का साधन भी बना लिया है। कई आयोजक तो ऐसे हैं जो वर्ष में 2-3 कार्यक्रम आयोजित करा कर साल भर का जुगाड़ बैठा लेते हैं। विभिन्न क्षेत्र की प्रतिभाओं को सम्मानित करने के साथ-साथ कुछ चुनिंदा मीडिया कर्मियों को भी इस सम्मान से इसलिए नवाजा जाता है उनके समूह या अखबार मैं समाचार प्रकाशित हो सके और उन्हें अपनी दुकान चलाने में सहूलियत मिल सके। यदि आप सामाजिक रूप से अपने आप को प्रतिष्ठित करना चाहते हैं तो कोई भी संस्था बहुत बड़ा खिताब भी दे सकती है चांदी का ताज भी पहना सकती है और आपको मिस राजस्थान भी बना सकती है। ऐसी कई दुकानें जयपुर में खुल चुकी हैं जो केवल आपको कुछ ही क्षणों में सम्मानित व्यक्ति का दर्जा दे सकती है।ऐसी ही एक संस्था इन दिनों सम्मान देने की दुकान खोलकर कई लोगों को इस प्रकार के सम्मान दे रही है, जिन को सुनने के बाद हर व्यक्ति दांतों तले अंगुली दबा लेगा। कुछ लोग तो ऐसे हैं जिन्होंने कभी किसी को फूटी कौड़ी का दान नहीं किया लेकिन उन्हें भामाशाह के रूप में सम्मानित किया जाता है। कुछ लोग तो ऐसे हैं जिन्होंने फैशन का जलवा भी नहीं देखा होगा लेकिन वह मिस राजस्थान बन जाते हैं। कई लोग ऐसे भी हैं जिन्होंने किसी भी क्षेत्र में ऑल पिन की नोक के जितना भी काम नहीं किया लेकिन वे सम्मानित व्यक्तियों की सूची में हैं। राजस्थान में पहले इस प्रकार की दुकानें कुछ लोगों ने चलाई थी लेकिन  उनकी दुकानें बंद होने के बाद मैं इनके द्वारा दिए गए सम्मान भले ही इतने  चर्चा में नहीं है लेकिन अब कुछ लोगों ने विभिन्न राजनीतिक दलों से जुड़े हुए हैं, एक दुकान ऐसा व्यक्ति चला रहा है जिसमें कांग्रेस के टिकट पर चुनाव भी लड़ा सांगानेर से चुनाव लड़ चुका यह व्यक्ति इन दिनों जयपुर में लोगों को सम्मान देने की रेवड़ियां बांट रहा है। ऐसे ही आयोजन यहां अन्य लोगों ने भी शुरू किए हैं उन्हें आप अपना छोटा सा बायोडेटा दीजिए और उन्हें मुंह मांगी रकम दीजिए आप को सम्मानित व्यक्तियों की सूची में शामिल किया जाएगा, आपको  चाहे आपने कभी कलम भी नहीं पकड़ी होगी लेकिन आपको वरिष्ठ पत्रकार के रूप में सम्मान मिलेगा। आपने भले ही किसी का कोई काम नहीं किया होगा लेकिन आपको समाजसेवी के रूप में सम्मान मिलेगा। आपने भले ही किसी की कभी सहायता नहीं की होगी फिर भी आपको दानवीर के रूप में सम्मान से नवाजा जाएगा, जल्द ही खोलने वाले हैं ऐसे सम्मान देने वाली दुकानों की पोल।                                                            कुछ दिनों पूर्व एक घी व्यापारी द्वारा ₹200000 सम्मान के एवज में दिए, जिसमें से बिचौलिए द्वारा ₹100000 हजम कर लिए गए और ₹100000 आयोजक तक पहुंचे। सम्मान समारोह प्रारंभ होने से पहले ही आयोजक - बिचौलिए मैं लेकर जमकर तू-तू मैं-मैं हुई, जिस पर सम्मानित होने वाले व्यापारी से 50,000 कार्यक्रम से पहले फिर जटक लिए गए, क्योंकि व्यापारी अपने रिश्तेदारों के सामने स्वयं को छोटा साबित नहीं करना चाहता था।ये तो एक बानगी है ऐसे अनगिनत भोले भंडारी है जिनकी बदौलत ये सम्मान की दुकानें चल रही है।