ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
चिल्ड्रन म्यूजिक एवं डांस परफॉरमेंस, केकेके में चिल्ड्रेन्स फेस्टिवल रविवार से
January 5, 2020 • Dr. Surendra Sharma

-- 13 जनवरी चलेगा यह बालोत्सव
-- आयोजित होंगी पेंटिंग, स्टोरी टेलिंग, पपेट मेकिंग वर्कशॉप्स
-- थिएटर, म्यूजिक एवं प्रस्तुतियों के अतिरिक्त बाल फिल्मों की भी होगी स्क्रीनिंग  

पेंटिंग वर्कशॉप से आरम्भ होगा 9 दिवसीय चिल्ड्रन'स फेस्टिवल

जयपुर, 4 जनवरी। जवाहर कला केंद्र (जेकेके) में नव वर्ष की शुरूआत बच्चों के लिए आयोजित 9 दिवसीय 'चिल्ड्रन'स फेस्टिवल' से होगी। बच्चों की कलात्मक अभिरुचि और पसंद को ध्यान में रखते हुए जेकेके में फेस्टिवल के दौरान न केवल पेंटिंग, स्टोरी टेलिंग एवं पपेट मेकिंग वर्कशॉप्स का आयोजन किया जाएगा, बल्कि  थिएटर, डांस एवं इन्स्ट्रूमेंटल प्रस्तुतियां भी दी जाएंगी। इन सभी के अतिरिक्त फेस्टिवल में रोमांच एवं मनोरंजन से भरपूर बाल फिल्मों की स्क्रीनिंग भी होगी। इन सभी कार्यक्रमों में बच्चों का प्रवेश निशुल्क रहेगा और यहां तक कि जेकेके द्वारा वर्कशॉप्स में आवश्यक आर्ट सामग्री भी उपलब्ध करवाई जाएगी। 

पेंटिंग वर्कशाप से होगी फेस्टिवल की शुरूआत
जेकेके में रविवार, 5 जनवरी को पेंटिंग वर्कशॉप से चिल्ड्रन'स फेस्टिवल की शुरूआत होगी। मध्यवर्ती में आयोजित तीन दिवसीय इस वर्कशॉप में बच्चों को उम्र के आधार पर दो ग्रुप्स में विभाजित किया जाएगा। इसमें 5 से 8 वर्ष तक की आयु के बच्चों के लिए प्रातः 9 से 11 बजे और 9 वर्ष से 16 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए प्रातः 11 से 1 बजे इन वर्कशॉप्स का आयोजन किया जाएगा। वर्कशॉप का संचालन डॉ. एन.एल वर्मा और मनोज जोशी करेंगे। 

'तिजी फेस्टिवलः ड्राइविंग आउट डीमॉन्स' और 'पंचतंत्र' एक्जीबिशंस
जेकेके द्वारा इंदिरा गांधी नेशनल सेंटर फॉर द आर्ट्स के सहयोग से रविवार, 5 जनवरी से 20 जनवरी तक दो एक्जीबिशंस लगाई जाएगी। इसके तहत अलंकार आर्ट गैलेरी में 'तिजी फेस्टिवलरू ड्राइविंग आउट डीमॉन्स' में फोटोग्राफ्स एवं मास्क्स होगा। इसी प्रकार 'पंचतंत्र' एक्जीबिशन में जनजातीय और लोक कला पर चित्रकारी के लिए प्रसिद्ध भारतीय चित्रकार, हाकू शाह की पेंटिंग्स तथा कलमकारी कार्यों का प्रदर्शन किया जाएगा। यह एक्जीबिशन अलंकार के अतिरिक्त सुरेख और सुदर्शन आर्ट गैलेरी में लगाई जाएगी। इन एक्जीबिशंस को देखने का समय प्रातः 11 से सायं 7 बजे रहेगा। 

चिल्ड्रन थियेटर परफोर्मेंस
समारोह का अगला आकर्षण 6 जनवरी और 9 जनवरी का आयोजित चिल्ड्रन थियेटर परफोर्मेंस साबित होगी। इसमें सोमवार, 6 जनवरी को प्रातः 9.30 बजे रंगायान में 'थर्स्टी क्रो रिटर्न्स' का मंचन होगा। मनीष जोशी लिखित 90 मिनट की इस हिन्दी नाट्य प्रस्तुति का निर्देशन एवं संपादन सुवोजीत बंद्योपाध्याय ने किया है। 

हार्टफुलनेस मेडिटेशन सैशन का भी होगा आयोजन 
बालोत्सव के दौरान 6 से 11 जनवरी को प्रातः 9 से 9.30 बजे रंगायन में 5 वर्ष से 14 वर्ष के आयु वर्ग के बच्चों के लिए हार्टफुलनेस मेडिटेशन सैशन का आयोजन भी किया जाएगा। 

स्टोरी टेलिंग वर्कशॉप्स
बच्चों की कल्पनाशक्ति के विकास को ध्यान में रखते हुए जेकेके की ओर से स्टोरी टेलिंग वर्कशॉप्स का आयोजन 6 जनवरी से 11 जनवरी को किया जाएगा। कृष्णायन सभागार में आयोजित इन वर्कशॉप्स का संचालन 6 से 7 जनवरी को डॉ. अनिता भटनागर जैन (सेवानिवृत्त आईएएस), 8 से 9 जनवरी को मालविका जोशी और 10 से 11 जनवरी को इंदिरा मुखर्जी द्वारा किया जाएगा। वर्कशॉप के तहत 5 से 8 वर्ष तक की आयु के बच्चों के लिए प्रातः 9 से 11 बजे और 9 से 14 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए प्रातः 11.30 से 1 बजे इन वर्कशॉप्स का आयोजन किया जाएगा। इसके अतिरिक्त मदर्स, टीचर्स एवं अन्य इच्छुक व्यक्तियों के लिए ये वर्कशॉप्स दोपहर 3 बजे से 4.30 बजे भी आयोजित की जाएगी।

संगीत और नृत्य पसंद करने वाले बच्चों के लिए जेकेके की ओर से 7 जनवरी और 10 जनवरी को प्रातः 9.30 बजे रंगायन में संगीत एवं नृत्य पर आधारित प्रस्तुतियां आयोजित की जाएंगी। मंगलवार 7 जनवरी को डॉ. अंकित पारीक के निर्देशन में संगीत प्रस्तुति होगी, जबकि शुक्रवार, 10 जनवरी को निकिता मुदगल के कोरियाग्राफी एवं निर्देशन में भरतनाट्यम नृत्य प्रस्तुति 'मार्गम' पेश किया जाएगा। 

पपेट मेकिंग वर्कशॉप
समारोह में 8 से 10 जनवरी को रिहर्सल हॉल में तीन दिवसीय 'पपेट मेकिंग वर्कशॉप' आयोजित की जाएगी। कपिल देव और मनोज भाट द्वारा संचालित इस वर्कशॉप में बच्चे न केवल कठपुतलियां बनाना सीखेंगे, बल्कि उन्हें राजस्थानी लोक कला में इनके महत्त्व की जानकारी भी दी जाएगी। वर्कशॉप के तहत 5 से 8 वर्ष तक की आयु के बच्चों के लिए प्रातः 9 से 11 बजे और 9 से 14 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए प्रातः 11.30 से 1 बजे इन वर्कशॉप्स का आयोजन किया जाएगा।

मॉस्क मेकिंग वर्कशॉप
जेकेके द्वारा बच्चों के लिए शनिवार 11 से 13 जनवरी को रिहर्सल हॉल में तीन दिवसीय 'मॉस्क मेकिंग वर्कशॉप' आयोजित की जाएगी। ऋतु गोलछा और गोविंद सिंह नागवंशी द्वारा संचालित इस वर्कशॉप में बच्चों को मुखौटे (मॉस्क) बनाना सिखेंगे। वर्कशॉप के तहत 5 से 8 वर्ष तक की आयु के बच्चों के लिए प्रातः 9 से 11 बजे और 9 से 14 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए प्रातः 11.30 से 1 बजे इन वर्कशॉप का आयोजन किया जाएगा। 

'गोरू' एवं 'हेडा होडा' बाल फिल्मों की होगी स्क्रीनिंग
फेस्टिवल में बच्चों की पसंद को ध्यान में रखते हुए फेस्टिवल के दौरान रंगायन सभागार में प्रातः 9.30 बजे मनोरंजन और रोमांच से भरपूर दो बाल फिल्में दिखाई जाएगी। इसके तहत बुधवार 8 जनवरी और शनिवार, 11 जनवरी को क्रमशः 'गोरू' और 'हेडा होडा' फिल्मों की विशेष रूप से स्क्रीनिंग होगी। 

बच्चों के रचनात्मक एवं सर्जनात्मक कलाकृतियों की लगेंगी एग्जीबिशन
जेकेके परिसर में वर्कशॉप के दौरान प्रतिभागी बच्चों द्वारा बनाये गये रचनात्मक एवं सर्जनात्मक कलाकृतियों का प्रदर्शन 16 से 21 जनवरी को प्रातः 10 से 5 बजे तक किया जाएगा।