ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
बुलबुल चक्रवात ओडिशा-बंगाल से टकराने के बाद कमजोर पड़ा तूफान, दोनों राज्यों में भारी बारिश, 2 की मौत
November 11, 2019 • VISHESH KUMAR SHARMA

एजेंसी नई दिल्ली।

बंगाल की खाड़ी में उठा चक्रवाती तूफान बुलबुल शनिवार रात पश्चिम बंगाल के सागर आइलैंड्स, ओडिशा के भद्रक और बांग्लादेश के ___खेपूपाड़ा में तट से टकराया। तूफान की रफ्तार करीब 110 से 120 किमी प्रतिघंटा रही। हालांकि टकराने के बाद तूफान कमजोर पड़ गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से बात कर तूफान से हुई तबाही का जायजा लिया। उन्होंने केंद्र की ओर से बंगाल को हर संभव मदद देना का वादा किया है। तूफान के असर के चलते दोनों राज्यों के तटीय इलाकों में भारी बार तटीय इलाकों में भारी बारिश हुई। 2 लोगों की मौत की भी खबर है। तूफान को देखते हुए कोलकाता के नेताजी सुभाष चंद्र बोस हवाईअड्डे पर शनिवार शाम 6 बजे से 12 घंटे के लिए उड़ानों पर रोक लगा दी गई। राज्य में एनडीआरएफ की 35 टीमें तैनात की गई हैंतूफान 'अति गंभीर' से 'गंभीर' श्रेणी में किया गया: मौसम विभाग के मुताबिक, ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तट से टकराने के वक्त तूफान की रफ्तार 120 से 135 किमी प्रति घंटे थीहालांकि, पश्चिम बंगाल से गुजरने के साथ ही तूफान कमजोर पड़ गया। इसे 'अति गंभीर' से 'गंभीर' श्रेणी में कर दिया है। तूफान का केंद्र देर रात पारादीप से 95 किमी पूर्व-उत्तरपूर्व में बंगाल की खाड़ी के उत्तर-पश्चिम में था। भद्रक जिले में डीहा द्वीप के पास नाव डूबने से समुद्र में फंसे 8 मछुआरों को रैपिड एक्शन फोर्स ने अन्य मछुआरों की मदद से बचाया है।