ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
बिजनौर और फिरोजाबाद में फायरिंग के दौरान 5 लोगों की मौत, पुलिस चौकियां फूंकी गईं
December 21, 2019 • Dr. Surendra Sharma

नई दिल्ली/अहमदाबाद/लखनऊ. नागरकिता संशोधन कानून के खिलाफ शुक्रवार को दिल्ली और उत्तर प्रदेश में प्रदर्शन हुए। उत्तर प्रदेश के 20 जिलों में प्रदर्शन के दौरान हिंसा हुई। यूपी के अतिरिक्त मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने कहा कि फायरिंग के दौरान 5 लोगों की मौत हुई है। मौतें बिजनौर, फिरोजाबाद और मेरठ में हुई। कानपुर में और बिजनौर में 4 लोग गोली लगने से घायल हुए। कुछ जिलों में पुलिस थाने और चौकियां फूंकी गईं। दिल्ली में जामा मस्जिद इलाके में दिनभर प्रदर्शन शांतिपूर्ण रहा। लेकिन, शाम के वक्त प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव किया आगजनी की। गुरुवार को हुई हिंसा के बाद गुजरात में हजार लोगों पर एफआईआर दर्ज की गई है। उत्तर प्रदेश 20 जिलों में इंटरनेट सेवा बंद है। दिल्ली, गुजरात, उत्तर प्रदेशकर्नाटक और मध्य प्रदेश में धारा 144 लागू कर दी गई केरल के 4 जिलों में हाईअलर्ट जारी किया गया है। मध्य प्रदेश में भी मोबाइल इंटरनेट बंद कर दिया गया हैउत्तर प्रदेशः शुक्रवार को गाजियाबाद, मेरठ, सुल्तानपुर, गोरखपुरकानपुर, उन्नाव, बुलंदशहर, हाथरस, हापुड़, अमरोहा, मुजफ्फरनगरसीतापुर, बिजनौर, मुरादाबाद, फिरोजाबाद, भदोही, वाराणसीबहराइच, संभल और वाराणसी में प्रदर्शनकारियों ने पलिस पथराव किया। पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए आंसू गैस गोले दागे। मेरठ में दो पुलिस चौकियां फूंक दी गईं। फिरोजाबाद भी चौकी फूंकी गई। यहां कुछ पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। राज्य धारा 144 लागू होने के बावजूद गरुवार को लखनऊ और संभल में नागरिकता कानून के विरोध में हिंसक प्रदर्शन हुए थे। पुलिस लखनऊ में 7 केस दर्ज किए और 200 प्रदर्शनकारियों गिरफ्तार किया। फायरिंग में मारे गए युवक के पोस्टमॉर्टम वीडियोग्राफी हुई। दिल्ली: जुमे की नमाज के बाद जामा मस्जिद के बाहर भारी संख्या में भीड़ जुट गई। पुलिस ने ड्रोन से निगरानी की और लोगों को शांति से जाने की अपील की। पूर्वोत्तर दिल्ली में सुरक्षा इंतजाम कड़े किए गए हैं। पलिस ने यहां शुक्रवार को 14 में से 12 थाना क्षेत्रों में धारा 144 लागू कर दी और फ्लैग मार्च भी निकाला। प्रदर्शन को देखते हुए डीएमआरसी ने 6 मेट्रो स्टेशन बंद कर दिए। शाम प्रदर्शनकारियों ने पथराव किया और गाड़ियों में आगजनी की। पलिस ने खदेडा। पुलिस ने कहा कि किसी भी प्रदर्शनकारी लाठी नहीं चलाई गई। गुजरात: हाथीखाना और फेतुपुरा इलाके में भीड़ ने पुलिस पथराव किया। पथराव में एसीपी भारत राठौड़ घायल हो गए। पुलिस ने बताया कि हाथीखाना में शुक्रवारी बाजार के दौरान, भीड़ निगरानी रखने के लिए वीडियोग्राफी की जा रही थी। कुछ लोगों कानून-व्यवस्था की दृष्टि से की जा रही वीडियोग्राफी पर आपत्ति जताते हुए पथराव शुरू कर दिया। इसके बाद फेतुपुरा में भी पथराव हुआ। अहमदाबाद के शाह आलम इलाके में प्रदर्शनकारियों गुरुवार को पुलिस के जवानों पर पथराव किया था। इस हमले एक डीसीपी, एक एसीपी समेत 21 पलिसकर्मी घायल हए। मामले में 5 हजार लोगों पर ईसनपुर थाने में केस दर्ज हुआ है, जिसमें हत्या की साजिश, शासकीय कार्य में बांधा डालने जैसी धाराएं लगाई गईं