ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
बेटियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए 6 दिवसीय कार्यशाला का शुभारंभ
September 22, 2020 • Dr. Surendra Sharma

बेटियों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए 6 दिवसीय कार्यशाला का शुभारंभ 

बेटियां सदैव खुश रहें, हर क्षेत्र में सक्षम बने आत्मनिर्भर बनें, इस उद्देश्य के साथ आज भारतीय जैन संगठन, झारखंड प्रांत के द्वारा छह दिवसीय निशुल्क कार्यशाला का आयोजन श्री दिगंबर जैन महिला समाज झुमरी तलैया की पहल पर किया जा रहा है। 22 से 27 सितंबर तक चलने वाले इस कार्यशाला में पूरे देश से कोई भी बेटी निबंधन करके प्रतिभागी बन सकती है।

अधिक संख्या में बेटियों का निबंधन होने के कारण एक साथ तीन कार्यशाला का आयोजन किया गया है। स्मार्ट गर्ल कार्यक्रम के राष्ट्रीय प्रमुख  संजय जी सिंधी स्वयं 18 साल से ऊपर की बेटियों को बैच नंबर 154 में प्रशिक्षित करेंगे, बैच नंबर 155 और 158 के प्रशिक्षक दिल्ली के  विपिन जैन और खपोली महाराष्ट्र से श्रीमती राज नाहर है।

कार्यशाला के पहले दिन सेल्फ अवेयरनेस यानी स्व-जागरूकता विषय के अंतर्गत बेटियों में अपने आपके प्रति बेहतर समझ विकसित करने के लिए वैज्ञानिक रूप से कई एक्टिविटी कराई गई। इससे बेटियों में वह कब खुश होती है, कब दुखी होती है, अपनी कौन सी आदत से वे खुश हैं, किस से दुखी है, किन चीजों से किन बातों से उन्हें डर लगता है, कौन से काम को भी अच्छे से कर सकती है, कौन सा काम चाह करके भी अच्छा नहीं कर पा रही है, उनके क्या शौक है, वह कौन सी हॉबी को डेवलप करना चाहती है, वे अपने व्यक्तित्व के बारे में क्या धारणा रखती है, उनके अपने हिसाब से लोग उनके बारे में क्या धारणा रखते हैं, क्यों लोग उन्हें अच्छी तरह से समझ नहीं पा रहे हैं, उनका असली व्यक्तित्व क्या है, उनका दिखावटी व्यक्तित्व क्या है, जीवन में क्या-क्या तमन्नाएं है इत्यादि अनेक विषयों पर विस्तार से उन्होंने अपने आप को समझा। अपने आप को समझना उनके लिए अभूतपूर्व अनुभव रहा। पहले दिन खुद को समझने के बाद वह अगले दिन अपने आप को कैसे एक्सप्रेस करना, दूसरों से संवाद कैसे स्थापित करना, दूसरों से रिश्ते कैसे विकसित करना और उन्हें किस हद तक सीमित रखना इत्यादि विषयों पर अनेक एक्टिविटी के द्वारा समझेगी।

इस कार्यशाला कि झारखंड राज्य की संयोजिका सरला जैन ने बताया कि आत्मनिर्भर भारत के लिए बेटियों एवं मातृशक्ति को सक्षम एवं स्वावलंबी बनाने की आवश्यकता है। इस कार्य को करने में उन्हें झुमरी तलैया से आशा और राज, गिरिडीह से हेमलता और शशि, रांची से मोनिका सुजाता और पायल, हजारीबाग से विजय आशा और सुशीला, डाल्टनगंज से अलका, बोकारो से धर्मेंद्र, धनबाद से कामना, रामगढ़ से खुशबू, देवघर से रुपाश्री, जसपुर से शशि, सरिया से मोनिला समेत अनेक लोगों का सहयोग मिल रहा है।

 इस मौके पर निर्वतमान वार्ड पार्षद पिंकी जैन ने कहा भारतीय जैन संगठन के द्वारा यह बहुत अच्छी पहल है माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी के आत्मनिर्भर भारत बनाने में यह प्रयास मजबूत कड़ी बनेगी बेटियां मजबूत होगी तभी देश मजबूत होगा समाज और परिवार मजबूत होगा बेटियां आत्मनिर्भर होगी तभी देश आत्मनिर्भर होगा आज हमारे देश की बेटियां किसी भी क्षेत्र में कमजोर नहीं है बस उसे सही मार्गदर्शन और परखने की आवश्यकता है जिसके लिए भारतीय जैन संगठन और कार्यशाला में अपना योगदान दे रही झारखंड की संयोजिका सरला पांड्या और इस कार्यशाला से जुड़ी महिलाएं का कार्य प्रशंसनीय और अनुकरणीय है साथ ही भारतीय जैन संगठन के झारखंड के प्रभारी रांची के प्रदीप जैन काला जी जिन के सानिध्य में यह कार्यक्रम हो रहा है उनका पूर्ण सहयोग और योगदान मिल रहा है 

उन्होंने मीडिया और समाज से अपील किया कि वे बेटियों को सक्षम करने के लिए आगे आए और बेटियों को इस लाभदायी निशुल्क कार्यशाला से जोड़े जो जूम एप और फेसबुक लिंक के द्वारा किया जा रहा है।

भारतीय जैन संगठन के मीडिया प्रभारी नवीन जैन,राज कुमार जैन अजमेरा ने सयुक्त रूप से यह जानकारी दी।