ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
बजट- राजस्थान सरकार के 7 संकल्प...
February 21, 2020 • Dr. Surendra Sharma

निरोगी राजस्थान संपन्न किसान महिला, बाल एवं वृद्ध कल्याण सक्षम मज़दूर, छात्र- युवा-जवान शिक्षा का परिधान पानी, बिजली और सड़कों का मान कौशल एवं तकनीक प्रधान

एक साल में 53 हजार 151 पदों पर भर्तियां होंगी

सरकारी स्कूलों में शनिवार को.'नो बैग डे'

यवाओं की खेल में भागीदारी बढाने के लिए अब ओलंपिक में गोल्ड जीतने पर 3 करोड़ रुपए के इनाम की घोषणा

कार्यालय संवाददाता ... कार्यालय संवाददाता . .. जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 2 लाख 25 हजार करोड़ का बजट पेश करते हुए 7 संकल्पों का उल्लेख किया है। गहलोत बोले हमारे लिए संपूर्ण राजस्थान एक परिवार है। इसके लिए सात संकल्प इस बजट की प्राथमिकता है। इसके साथ उन्होंने बजट में युवाओं के लिए 53 हजार 151 पदों पर भर्ती का एलान किया। वहीं, स्कूलों में शनिवार को  नो बैग डे की घोषणा भी की। इस दिन कोई अध्यापन कार्य नहीं होगा। शनिवार को स्कूलों में साहित्यिक गतिविधि, पेरेंट्स टीचर मीटिंग, बालसभाएं होंगी। वहीं इस बजट में कर प्रस्तावों में कोई भी नया कर नहीं लगाया गया है। इन कर प्रस्तावों से लगभग 130 करोड़ रुपए से अधिक की राहत प्रदान की गई है।

7 विभागों में 53 हजार से ज्यादा भर्तियां निकाली जाने की घोषणा अशोक गहलोत ने बजट में बेरोजगार युवाओं के लिए सरकार के विभिन्न विभागों में हजार 181 पदों पर भर्ती निकाले जाने की घोषणा सबसे अहम रही। जिनमें मेडिकल एंड विभाग में 4369 पदों पर, मेडिकल एजुकेशन 573 पदों पर, कॉपरेटिव में 1000 पदों परएजुकेशन में 41 हजार पदों पर, लोकल सेल्फ 1039 पदों पर, गृह विभाग में 5000 पदों में 200 पदों पर भर्तियां निकाला जाएगा

मिलावट खोरों के खिलाफ फास्ट ट्रैक कोर्ट बनेंगी राज्य के प्रत्येक नागरिक को शुद्ध खाद्य प्रदार्थ उपलब्ध हो। सरकार ने मिलावट खोरों के खिलाफ कड़े कदम उठाते हुए, एक ऑथेरिटी के गठन की घोषणा की है। मिलावटी प्रदार्थों की जांच के लिए प्रत्येक जिले में एक लैब का गठन किया जाएगा। जिसमें नमूनों की जांच रिपोर्ट ऑनलाइन दी जाएगी। साथ ही मिलावट खोरों के खिलाफ जल्द कार्रवाई के लिए अलग से फास्ट रैक कोर्ट का गठन किया जाएगा।

खिलाड़ियों का दैनिक भत्ता भी बढ़ाया इसी तरह, राज्य खेलों की तर्ज पर ब्लॉक स्तरीय एवं जिला स्तरीय खेलों का आयोजन किया जाएगाजिससे वर्ष 2022 में होने वाले राज्य खेल और अधिक सफल हो सकेंगे। इसके लिए 5 करोड़ का प्रावधान रखा जाएगा। खेल में युवाओं की प्रतिभा तलाशने के लिए इस साल राज्य खेलों में क्रिकेट और हेंडबाल शामिल किए जाएंगे। अब इन खेलों के भी ब्लॉक, जिला एवं राज्य स्तरीय आयोजन करवाए जाएंगे। वहीं, राज्य के खिलाड़ियों को राष्ट्रीय एवं राजय स्तरीय प्रतियोगिताओं में भाग लेने पर दैनिक भत्ते की दरों को बढ़ाकर 500 से 1 हजार रुपए और 300 से 600 रुपए करने की घोषणा की।

एशियन गेम्स/कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक जीतने पर 1 करोड़ रुपए का ईनाम इसी तरह, एशियन गेम्स/कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक जीतने पर 1 करोड़ रुपए के नगद ईनामी की घोषणा की गई है। अब तक यह ईनामी राशि 30 लाख रुपए थी। वहीं, रजत पदक जीतने पर ईनामी राशि 20 लाख रुपए से बढ़ाकर 60 लाख रुपए और कांस्य पदक जीतने पर वर्तमान में दी जा रही 10 लाख रुपए को बढ़ाकर 30 लाख रुपए करने की घोषणा की है। इन खेलों के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी तैयार करने के लिए संविदा पर विभिन्न खेलों के 500 कोच रखे जाएंगे। इस पर लगभग 10 करोड़ रुपए वार्षिक व्यय आएगा।

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुरुवार को वर्ष 2020-21 का बजट विधानसभा में पेश किया। गहलोत ने सात संकल्पों में बजट को पेश किया। इनमें ऊर्जावान युवाओं के लिए की गई बजट घोषणाओं को चौथे संकल्प में रखाइसमें खेलों में युवाओं की भागीदारी बढ़ाने के लिहाज से बजट घोषणा करते हुए सीएम गहलोत कहा कि प्रदेश के खिलाड़ियों द्वारा ओलम्पिक खेलों में स्वर्ण पदक जीतने पर वर्तमान में दी जा रही 75 लाख रुपए की ईनामी राशि को बढ़ाकर 3 करोड़ रुपए, रजत पदक जीतने पर 2 करोड रुपए दिया जाएगा। अब तक यह ईनामी राशि 50 लाख रुपए थी। इसी तरह, कांस्य पदक जीतने पर वर्तमान में दी जा रही 30 लाख रुपए की राशि को बढ़ाकर 1 करोड़ रुपए करने की घोषणा की गई है