ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
बजट 2020-21 देश के आमजन, किसान वर्ग व युवाओं की आशाओं के विपरित होने के साथ साथ लक्ष्यहीन व दिशाहीन
February 2, 2020 • Dr. Surendra Sharma

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी महासचिव एवं प्रवक्ता व अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी सदस्य नीरज डांगी ने केन्द्र सरकार द्वारा प्रस्तुत बजट 2020-21 पर कांग्रेस की ओर से प्रतिक्रिया जारी करते हुए बताया कि केन्द्र सरकार के वित्त मंत्री द्वारा आज प्रस्तुत किया गया बजट 2020-21 देश के आमजन, किसान वर्ग व युवाओं की आशाओं के विपरित होने के साथ साथ लक्ष्यहीन व दिशाहीन है। केन्द्र सरकार द्वारा चैपट अर्थव्यवस्था व बढती बेरोजगारी से निपटने का कोई सार्थक एक्सन प्लान नहीं बनाया गया व ना ही इस ओर कोई विशेष ध्यान दिया है। केन्द्र सरकार के प्रस्तुत बजट में युवाओं के हित के साथ कुठाराघात किया है, रोजगार को बढावा देने के लिए कोई प्लान नहीं है। जहां राजस्थान प्रदेश समेत देश का युवा रोजगार को लेकर चिन्तित है व सडकों पर उतरा है, वहीं केन्द्र सरकार द्वारा आने वाले वर्ष के लिए प्रस्तुत बजट में देश में रोजगार बढाने के लिए कोई विशेष कार्ययोजना अथवा प्लान नहीं होना चिन्ता का विषय है व केन्द्र सरकार युवाओं के प्रति अपनी जवाबदेही से मुंह मोडती दर्शाती है।

  कांग्रेस नेता नीरज डांगी ने बताया कि इस बजट में लोगों को गरीबी के दुश्चक्र से निकालने के लिए कोई पहल नहीं की है। बल्कि सरकारी मशीनरी अथवा संसाधन जिनमें सरकारी कम्पनियां इत्यादि को निजी हाथों में सौंपने की सरकार की मंशा जाहिर हो रही है। निजी क्षेत्र को बढावा देते हुए बडे बडे पूंजीपतियों व सरकार के चुनिन्दा धनाढ्य परिवारों को मदद करने वाला प्रतीत हो रहा है और केन्द्र सरकार की इस मंषा के कारण महंगाई, गरीबी व बेरोजगारी निश्चित रूप से बढेगी। 

  कांग्रेस नेता नीरज डांगी ने कहा कि केन्द्र सरकार के प्रस्तुत बजट को गणित के आंकडों में उलझाते हुए जनता का ध्यान भटकाने का प्रयास किया गया है। देश में बढती बेरोजगारी व चैपट अर्थव्यवस्था को संभालने के नाम पर केन्द्र सरकार असफल व असहाय नजर आ रही है। बजट में आंकडों के मक्कड जाल से जनता को कोई वास्ता नहीं है। देश के युवाओं के लिए रोजगार कैसे मिले, लडखडाती अर्थव्यवस्था कैसे मजबूत हो इन पर सरकार का प्रयास होना चाहिए था, लेकिन इस पर असफल रही है। केन्द्र सरकार को बजट पेश करने से पहले देश की अर्थव्यवस्था को बर्बाद करने के लिए माफी मांगनी चाहिए। 

  कांग्रेस नेता नीरज डांगी ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा प्रस्तुत बजट ड्रीम बजट है। केन्द्रीय बजट सपनों का एक पुलिन्दा है जो कि मोदी सरकार के पिछले बजट की तुलना में थोडा बडा जरूर है। बजट में पिछली बार की तरह इस बार भी सपने बेचे जा रहे है और ये सपने हकीकत से कोसों दूर है।