ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
बजरी माफिया का आतंक, प्रदेश की कानून व्यवस्था  चौपट - डाॅ. सतीश पूनियां
February 1, 2020 • Dr. Surendra Sharma


गहलोत सरकार प्रदेश के विकास में नाकाम, खुद के विधायक ही लगा रहे आरोप - डाॅ. सतीश पूनियां।
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनियां ने प्रदेश की कानून व्यवस्था एवं बजरी माफियाओं के आतंक पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि बजरी माफिया का बढ़ता आतंक चिंताजनक है। प्रदेश में कांग्रेस की सरकार को लगभग 13 महीने हो चुके है इतने कम समय में ही सरकार ने जनता का विश्वास खो दिया है, अपराधों का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है।

यह बात आज शुक्रवार को उन्होंने विधानसभा क्षेत्र आमेर में अपने दौरे के दौरान कही और उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री गहलोत जी स्वयं गृहमंत्री भी है लेकिन उनसे प्रदेश की कानून व्यवस्था नहीं संभाली जा रही है अपराधी बेखौफ होकर अपराध कर रहे हैं । डॉ पूनिया ने कहा प्रदेश में बजरी खनन माफिया सरकार से भी ज्यादा ताकतवर हो चुके हैं वे आपने वाहनों से सामान्य जन से लेकर पुलिस तक को कुचलने में नहीं चूकते हैं। धौलपुर जिले में बाड़ी सदर थाना क्षेत्र के पगुली गांव के जंगलों में बजरी माफियाओं और पुलिस के बीच हुई फायरिंग में पुलिस की गोली लगने से बजरी की ट्रॉली में सवार एक नाबालिक की मौत बहुत चिंताजनक हैं।


 डाॅ. सतीश पूनियां ने कहा कि अब तो सरकार के विधायक एवं मंत्री भी सरकार के कार्यों से निराश है और खुलेआम सरकार के कार्यों पर सवाल उठानें लगे है। कल ही टोडाभीम के विधायक पृथ्वीराज मीणा ने मुख्यमंत्री गहलोत पर जनहित के काम नहीं कराने का आरोप लगाया है। इसी तरह कुछ दिन पूर्व ही कोटा में हुई बच्चों की मौतो पर भी सरकार की आंतरिक कलह सामने आई थी, सरकार दो धडो में बटी हुई है और आपसी खींचतान से ग्रसित यह सरकार प्रदेश का विकास करना तो दूर कानून व्यवस्था भी नहीं संभाल सकती। सवाई माधोपुर के विधायक दानिश अबरार ने बजरी माफियाओं  की  कारगुजारी को  बताया है खुदने अपनी सरकार की आंखे आज खोली हैं।  बाड़ी विधायक गिर्राज मलिंगा ने भी आरोप लगाया कि डीआईजी इस बजरी प्रकरण में सम्मिलित है। बहुत चिंताजनक है। पिछले वर्ष सुप्रीम कोर्ट ने रोक के बावजूद प्रदेश में अवैध बजरी खनन पर सीएस, एसीएस खान व डीजीपी को अवमानना नोटिस जारी किया था। इस अवैध खनन में खान विभाग, परिवहन विभाग, पुलिस महकमा भी शामिल है। ग्रामीण क्षेत्रों में लोग संगठित होने लगे हैं, लेकिन खनन विभाग, पुलिस व प्रशासन का साथ नहीं मिलने से बजरी का अवैध खनन करने वालों के हौसले बुलंद हैं। तेज गति से चलने वाले अवैध बजरी के ट्रक और  ट्रैक्टर  के कारण प्रदेश में आए दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं। 

 डाॅ. सतीश पूनिया ने अपने विधानसभा क्षेत्र आमेर का दौरा कर स्वयं के द्वारा कराए गए विभिन्न विकास कार्यो का जायजा लिया, साथ ही उन्होंने कुंडा क्षेत्र में बोरिंग का उद्घाटन किया और बाग बस्ती का दौरा कर पानी बिजली सड़क आदि सुविधाओं के विस्तार हेतु चर्चा की। पूनियां ने राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय तथा आंगनबाड़ी भवन का निरीक्षण कर पुराने जर्जर भवन के स्थान पर नए भवन के निर्माण का आश्वासन दिया