ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
अवैध सट्टे जुए ने तोड़ी आदमी की कमर 
August 1, 2020 • Dr. Surendra Sharma

अवैध सट्टे जुए ने तोड़ी आदमी की कमर 

                     (एसके मंगल)

धौलपुर l कम समय में अधिक पैसा कमाने की लालसा कभी-कभी पूरे परिवार के लिए दुःखदाई साबित होती है। युवा पीढ़ी में से कुछ लोग अधिक पैसा कमाने के लिए जुआ सट्टा तथा गद्दियों पर चल रहे एम सी एक्स पर पैसा लगा रहे हैं। जिससे जिले में अनेक परिवार बर्बाद हो गए हैं। जब कि काफी परिवार पलायन कर चुके हैं। धौलपुर जिले में यह काला धंधा काफी तेजी से पनपा है। जुए के अड्डों पर जुआ खेलने के शौकीनों से पैसे वसूल किए जाते हैं तथा जरूरत होने पर कई गुना रकम पर ब्याज पर रकम उधार दी जाती है, जिससे ज्यादातर जुआरी बर्बाद हो जाते हैं। उनके साथ ही उनके परिवार भी भी इसे प्रभावित होते हैं। जुआ खिलाने का यह कारोबार जिले में कई गांव में चल रहा है। इसी प्रकार सट्टे की खाई वाली अब छोटी-छोटी दुकानों से दूर हो गई है और इसके लिए गद्दियां बन गई हैं। इन पर सोना, चांदी, मसाले, ड्राई फ्रूट आदि के साथ क्रिकेट के मैच पर बड़ी संख्या में सट्टा लगाया जाता है। यह भी माना जाता है कि क्रिकेट की हर बॉल पर सट्टा लगता है, जिसमें तुरंत हानि होती है। जबकि लाभ की संभावनाएं बहुत कम होती हैं। यह अवैध कारोबार जिले में तेजी से फैला है। इसके साथ ही इसमें हानि उन्हें के कारण अनेक परिवार बर्बाद हो गए हैं, तो काफी अपने मकान तथा जायदाद को बेचकर पलायन कर गए हैं। यह अवैध कारोबार तेजी से फल-फूल रहा है।

जिले में जुआ सट्टा जोरशोर से चल रहा है। चारों तरफ खुली सट्टा की दुकानों से न केवल युवा वर्ग प्रभावित हो रहे हैं बल्कि चोरियां भी बढी हैं। लाखों करोड़ों की सट्टा का गढ़ बनते जा रहे जिले में इससे जुड़े लोगों पर कार्रवाई नहीं होना, पुलिस की कार्यशैली पर अपने आप में सवालिया निशान है। क्षेत्र के लोगों ने डीजीपी व एसपी से कार्रवाई की गुहार लगाई है।

  युवा इन दिनों बुरी लतों का शिकार हो रहा है। इस कारण शहर व गांव-गांव में खुली अवैध जुआ- सट्टा की दुकानें हैं। इस कारोबार से जुड़े लोग क्षेत्र के युवाओं को जाल में फंसाकर उनकी "जिंदगी बर्बाद करने पर तुले हैं। इलाके में सट्टेबाजी के कारोबार में दिनों दिन बढ़ोतरी होने के साथ-साथ क्राइम का ग्राफ भी बढ़ रहा है। जो न केवल पुलिस के लिए चिंता का विषय है बल्कि अवाम के लिए भी परेशानी का सबब है। 

पुलिस के ढुलमुल रवैये के चलते इलाके में अवैध जुआ सट्टे का प्रचलन तेजी से बढ़ा है। 

सट्टे के कारोबार से जुड़े लोग मोबाइल और इंटरनेट का सहारा लेने लगे हैं। सट्टा बाजार में आई इस नई तकनीक के माध्यम से इससे जुड़े लोग अब लाखों रुपये की गेम का अदान-प्रदान करने में लगे हैं।

 ऐसा नहीं है कि पुलिस को इस गोरखधंधे की जानकारी न हो। जानकारी होने के बावजूद, नकेल नहीं कसा जाना पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान लगा रहा है। 

 

शहर जुआ-सट्टा का मुख्य बाजार बनता जा रहा है। 

 इसके साथ ही जिले में मादक द्रव्यों की तस्करी भी तुरंत धनी बनने का साधन बनी हुई है। हालांकि धौलपुर पुलिस ने मादक पदार्थों की बड़ी खेप बरामद की है जिसमें गांजे के साथ अफीम बोलेरो गाड़ी तथा नगद राशि पकड़ी है। पुलिस अधीक्षक केसर सिंह शेखावत धौलपुर जिले की नस नस से वाकिफ हैं। उम्मीद की जानी चाहिए कि वह धौलपुर जिले में कैंसर की तरहृ फैले अवैध कारोबार पर सख्ती से प्रतिबंध लगाने के लिए कार्यवाही करेंगे। जिले के नागरिकों की उम्मीद केवल पुलिस अधीक्षक शेखावत से है और उम्मीद की जाती है कि वे इस पर खरे उतरेंगे।