ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
अर्थव्यवस्था पर सरकार खामोशः चिदंबरम, भाजपा बोली... खुद को बेदाग बताकर पहले ही दिन जमानत की शर्त तोड़ी
December 6, 2019 • Dr. Surendra Sharma

एजेंसी

नई दिल्ली। आईएनएक्स मीडिया घोटाले में आरोपी पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने तिहाड़ जेल से बाहर आने के बाद गुरुवार को पहली बार प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने अर्थव्यवस्था और महंगाई के मुद्दे पर मोदी सरकार पर निशाना साधा। चिदंबरम ने कहा कि अगर साल खत्म होते-होते विकास दर 5त्र पर आ देते वक्त चिदंबरम के सामने आईएनएक्स घोटाले से जाती है तो हम भाग्यशाली होंगे। इससे पहले चिदंबरम जुड़े सबूतों से छेड़छाड़ नहीं करने और मीडिया में इस संसद भी गए। यहां उन्होंने कहा कि सरकार मेरी मुद्दे पर सार्वजनिक रूप से कोई बयान नहीं देने के आवाज नहीं दबा सकती। केंद्रीय मंत्री प्रकाश निर्देश दिए थे। लेकिन सरकार को घेरने की कोशिश जावड़ेकर ने चिदंबरम की प्रेस कॉन्फ्रेंस पर आपत्ति में उन्होंने अपने कार्यकाल को सबसे साफ करार जताई। उन्होंने कहा कि पूर्व वित्त मंत्री मीडिया में दिया। जबकि सीबीआई भ्रष्टाचार और प्रवर्तन बयान देकर जमानत की शर्ते तोड़ रहे हैं। निदेशालय मनी लॉन्ड्रिंग मामले में उनके खिलाफ दरअसल, सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को जमानत जांच कर रही है। 'बतौर पूर्व वित्त मंत्री अर्थव्यवस्था पर मेरी अच्छी समझ': चिदंबरम ने कहा, 'अर्थव्यवस्था कमजोर हो रही है, लेकिन सरकार को इसकी कोई चिंता नहीं। प्याज के दाम 100 रु. से ऊपर हो गए हैं। प्रधानमंत्री अर्थव्यवस्था को लेकर चुप्पी साधे हुए । उन्होंने अपने मंत्रियों को गुमराह करने वाले बयान देने के लिए छोड़ दिया। सरकार में अर्थव्यवस्था की समझ रखने वालों की कमी है। जो लोग इसे बेहतर डील कर सकते थे, उन्हें पद से हटा दिया गया। सरकार अर्थव्यवस्था के प्रबंधन में पूरी तरह से नाकाम रही है।' चिदंबरम ने पहले ही दिन जमानत की शर्तों को तोड़ा- भाजपा: केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने चिदंबरम की प्रेस कॉन्फ्रेंस पर आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि जमानत मिलने के बाद पहले ही दिन पी. चिदंबरम ने सुप्रीम कोर्ट शतों का उल्लंघन किया। अदालत ने उनसे कहा है कि सार्वजनिक रूप से मीडिया में कोई बयान न दें।