ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
अलवर : नक्सली हमले में शहीद जवान को १६ और 20 साल के बेटों ने मुखाग्नि दी
February 20, 2020 • Dr. Surendra Sharma

 कार्यालय संवाददाता

अलवर। छत्तीसगढ़ के बीजापुर में नक्सली हमले में घायल हुए जवान अजीत सिंह यादव मंगलवार को शहीद हो गए। बुधवार को उनका पैतक गांव गंडाला में अंतिम संस्कार किया गया। 10 फरवरी को नक्सलियों और सीआरपीएफ कोबरा 204 बटालियन के जवानों के बीच मुठभेड़ हो गई थी। इस दौरान सीने में गोली लगने के काण अजीत घायल हो गए थे।

दोनों बेटों ने दी मुखाग्निः मदीना बटा ने दी मुखाग्निः शहीद अजीत के अंतिम संस्कार के दौरान उनके दोनों बेटों ने उन्हें मुखाग्नि दी। 20 वर्षीय आशीष यादव और 16 वर्षीय अभिषेक ने नम आंखों से पिता को विदाई दी। इस दौरान अजीत के बड़े भाई जोगिंदर सिंह और संदीप यादव ने बच्चों का सहयोग किया। बुधवार सुबह जैसे ही शहीद की पार्थिव देह गांव पहुंची, पूरा गांव अजीत के नाम से गूंज उठा। सभी ने एक स्वर में शहीद को याद किया। पूरे सैन्य सम्मान के साथ अजीत को अंतिम विदाई दी गई। वहीं विधायक बलजीत यादव, कांग्रेस नेता आरसी यादव, भाजपा नेता मोहित यादव, सुरेश यादव, सीआरपीएफ आईजी अभयवीर सिंह चौहान अंतिम यात्रा में मौजूद रहे। युवाओं द्वारा उनके पार्थिव देह के आगे बाइक रैली निकाली गईपार्थिव देह पर रास्ते पर ग्रामीणों ने फल बरसाएवहीं वाहन के पीछे सैकड़ों की तादाद में युवा ग्रामीण सहित अनेक लोग चल रहे थे।

शहीद हवलदार अजीत सिंह 1994 में सीआरपीएफ में भर्ती हुए । शहीद अजीत सिंह के दो बेटे । शहीद होने की खबर से गांव में शोक की लहर दौड़ गई।