ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
अलर्टः आईएस के दो आतंकी उत्तर प्रदेश में घुसे, एक पुणे धमाके में शामिल था
January 6, 2020 • Dr. Surendra Sharma

एजेंसी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) के दो आतंकियों के घुसने के बाद कुशीनगरमहाराजगंज जिलों समेत नेपाल बॉर्डर पर हाई अलर्ट जारी किया गया। बस्ती रेंज के आईजी आशुतोष कुमार ने रविवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया, दो आतंकी अब्दुल समद और ख्वाजा मोइनुद्दीन उत्तर प्रदेश में हैं। आशंका है कि दोनों सिद्धार्थनगर, कुशीनगर व महाराजगंज के रास्ते नेपाल भाग सकते हैं। अयोध्या में भी पुलिस व खुफिया एजेंसियां अलर्ट हैं। दोनों आतंकियों में से एक समद ने पुणे में 2010 में जर्मन बेकरी ब्लास्ट के लिए आतंकियों को हवाला के जरिए रकम पहुंचाई थी

यूपी में आतंकियों के घुसने की खबर मिलने के बाद नेपाल से सटे सिद्धार्थनगर, घुसे, एक पुणे धमाके सौंपे गए पर सरगर्मी से इनका आए फैसले के बागए कुशीनगर, महाराजगंज, गोरखपुर, बहराइच व बस्ती जोन में अलर्ट घोषित किया गया। दोनों के फोटो एसएसबी व लोकल पुलिस को सौंपे गए हैं। खुफिया एजेंसियां भी नेपाल बॉर्डर पर सरगर्मी से इनकी तलाश कर रही है। आशुतोष कुमार ने कहा, 'फैजाबाद पुलिस को भी दोनों आतंकियों के फोटो भेजे गए हैं। राम मंदिर पर आए फैसले के बाद से अयोध्या आतंकियों की हिट लिस्ट में है। अयोध्या में प्रवेश करने वाले वाहनों की चेकिंग हो रही है।'

2017 में चेन्नई में पकड़ा गया था मोइनुद्दीनः खुफिया एजेंसियों के मुताबिक,  मोइनुद्दीन मुजाहिदीन के भी संपातक अब्दुल और मोइनुद्दीन को आखिरी बार 16 दिसंबर को पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी में देखा गया था। जांच में पता चला कि सीरिया से लौटने के बाद दोनों आतंकी दक्षिण भारत समेत अन्य राज्यों में युवाओं का ब्रेनवॉश कर उन्हें इस्लामिक स्टेट से जोड़ रहे थे। दोनों पाक समर्थित आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिदीन के भी संपर्क में हैं। मोइनुद्दीन को सितंबर 2017 में एनआईए ने चेन्नई से पकड़ा था जबकि समद फरवरी 2018 में पकड़ा गया था। समद ने पुणे ब्लास्ट से जुड़े आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के सदस्य को हवाला के जरिए खाड़ी देश से मिले 3.50 लाख रुपए भी पहुंचाए थे