ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
49 नगर पालिकाओं के लिए मतगणना पूरी, 961 वार्डों पर कांग्रेस की जीत. 737 पर भाजपा का कब्जा
November 20, 2019 • Dr. Surendra Sharma

कार्यालय संवाददाता

जयपुर। कालिए हुए चुनाव कानगर पालिकाएं भी हैजयपुर। राजस्थान में मंगलवार को 49 नगर पालिकाओं के लिए हुए चुनाव की मतगणना पूरी हो गई हैइनमें पिछले दिनों नवगठित 6 नगर पालिकाएं भी हैंजिसमें कांग्रेस ने कुल 28 पालिकाओं में जीत हासिल की है। वहीं भाजपा ने 16 पालिकाओं में जीत दर्ज कीइसके साथ तीन जगह निर्दलीय आगे रहे। 2 जगह परिणाम बराबर रहा। जिसमें कांग्रेस ने 961 वार्डों में और भाजपा ने 737 वाडों में जीत हासिल की। वहीं बसपा के खाते में 16, माकपा के 3 और एनसीपी के 2 पार्षद विजयी रहे। वहीं, दूसरी ओर कांग्रेस और भाजपा दोनों ने अपने उम्मीदवारों को अज्ञात स्थान पर भेज दिया है। जोधपुरअलवर, नागौर सहित पूरे प्रदेश में पार्षद प्रत्याशियों को होटल, रिजार्ट और फार्म हाउस में ठहराए जाने की सूचना है। इसके साथ ही, प्रत्याशियों के मोबाइल बंद करा दिए हैं। भाजपा और कांग्रेस दोनों ने अपने प्रत्याशियों को 19 नवंबर तक के लिए होटल-रिसॉर्ट व फार्म हाउस में पहुंचाए जाने की सूचना है। खबर है कि जोधपुर के प्रत्याशियों को पाली और जैसलमेर में रखा है। नगर पालिकाओं के लिए 16 नवंबर को वोटिंग हुई थी। इसमें 76.28 फीसदी मतदान रिकॉर्ड किया था। ईवीएम से हुई वोटिंगः इस चुनाव में मल्टी पोस्ट सिंगल वोट और एमके 4 और एमके 5 ईवीएम मशीनें काम में ली गई थी। प्रदेश में 24 जिलों के अलग-अलग निकाय क्षेत्रों में ये चुनाव हुए।

उम्मीद यही थी:

मुख्यमंत्री गहलोत गहलोत बोले कि निकाय चुनाव के परिणामों पर गहलोत ने कहा कि उम्मीद यही थी, अपेक्षा यही थी, उसके अनुकूल ही परिणाम आते दिख रहे हैं। 2 घंटे बाद तक सब मालूम पड़ जाएगा। यह बहुत प्रसन्नता की बात है कि जनता ने मैंडेट दिया है। यह सोच कर के की सरकार जिस रूप में परफॉर्म कर रही है उस दिशा में हम आगे बढ़ रहे हैं, हम चाहेंगे कि जो समस्या शहर की भी है उनको प्रायरिटी से हल करें। जनता ने विश्वास प्रकट किया है उनकी अपेक्षा और आशाओं के अनुरूप सरकार काम करे। महापौर और उप महापौर के चुनाव 27 नवंबर को वहीं, उपमहापौर/उपाध्यक्ष पदों के लिए मतदान 27 नवंबर, बुधवार को होगा। इस दिन दोपहर 2-30 बजे से शाम 5 बजे तक यदि आवश्यक हुआ तो मतदान निर्वाचित सदस्यों द्वारा किया जाएगा। मतदान की समय सीमा समाप्त होते ही मतगणना शुरू हो जाएगी।