ALL देश /विदेश राज्य अपराध खेल मनोरंजन/सिनेमा लाइफ स्टाइल धर्म हिन्दी साहित्य शिक्षा कारोबार
10 साल की बच्ची से पड़ोसी ने दुष्कर्म किया, पत्थर मारकर हत्या की कोशिश की. मरा समझकर ईंटों से छिपाया
February 5, 2020 • Dr. Surendra Sharma

निजी संवाददाता

चूरू। राजस्थान के चूरू से 10 साल की बच्ची से दुष्कर्म और हत्या के प्रयास का मामला सामने आया है। दुष्कर्म के बाद आरोपी बच्ची के सिर पर पत्थर माराइसके बाद उसे मृत मानकर बच्ची के शरीर को ईंट और पत्थरों छिपा दिया। हालांकि, बच्ची केवल बेहोश हुई थी। आरोपी अकरम (21) को गिरफ्तार कर लिया गया है। घटना सोमवार रात की हैआरोपी बच्ची के पड़ोस में ही रहता था। जानकारी के मुताबिकसादुलपुर निवासी पीड़ित बच्ची सोमवार रात करीब 9 बजे टॉफी खरीदने गई थी। वह घर लौट रही थी, तभी बाजार में घूम रहे अकरम ने बच्ची को टॉफी दिलाने झांसा दिया। बच्ची अकरम जानती थी, इसलिए आसानी से बहकावे में आ गई और उसके साथ चली गई।

बच्ची की तलाश करते हुए परिजन खंडहर तक पहुंचेः जब काफी देर तक बच्ची घर नहीं लौटी तो परिजन ने बच्ची की तलाश शुरू की। दुकानदार ने भी बच्ची के टॉफी खरीदकर वापस जाने की बात कही। परिजन ने राजगढ़ थाना पुलिस को सूचना दी। इसके बाद परिजन, पड़ोसी और पुलिस बच्ची की तलाश में घर से कुछ दूरी पर बने खंडहरनुमा मकान में पहुंचे। वहां ईंट-पत्थर में दबी बच्ची की कराहने की आवाज आई। बच्ची को तुरंत अस्पताल ले जाया गया।

पूछताछ में बच्ची आरोपी का नाम बतायाः बच्ची की हालत में सुधार होने पर पुलिस परिजन के जरिए बच्ची बातचीत की। घटना का खुलासा हुआ। पुलिस बच्ची के बयान आधार पर अकरम के घर पहुंचीहालांकि, अकरम घर पर नहीं मिला। इसके बाद पुलिस घेराबंदी करके अकरम को पकड़ापूछताछ में अकरम ने अपराध कबूल लिया।

शरीर पर चोट के निशान मिलेः डीएसपी सीपी पारीक ने बताया कि आरोपी अकरम पेंटिग का काम करता है। बच्ची के पिता कारपेंटर हैं। ऐसे में अकरम और बच्ची के पिता एक दूसरे को पहचानते थे। वह बच्ची के घर भी आता था, इसलिए बच्ची उसे पहचानती थी। उन्होंने बताया कि बच्ची के शरीर पर चोट के निशान मिले हैं। आरोपी ने दुष्कर्म के पहले बच्ची से मारपीट भी की थी

आरोपी ने हत्या करने के इरादे से बच्ची के सिर पर पत्थर मारा अकरम बच्ची को एक खंडहरनुमा मकान में ले गया और दुष्कर्म किया। आरोपी ने अपनी पहचान छिपाने के इरादे से बच्ची के सिर पत्थर मारा, जिससे वह बेहोश हो गई। बच्ची को मृत मानकर अकरम ने बच्ची का शरीर ईंट और पत्थरों से छिपा दिया। इसके बाद वह निकला।